जयपुर: अब स्वीकृत पदों से ज्यादा भेजी जाएगी बोर्ड को अभ्यर्थियों की सूची

Smart News Team, Last updated: Wed, 23rd Sep 2020, 11:18 PM IST
  • जयपुर. राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड अब डेढ़ गुना की जगह 3 गुना चयनित अभ्यर्थियों की सूची भेजेगी. सीएम अशोक गहलोत ने मंगलवार को प्रशासनिक सुधार विभाग की समीक्षा बैठक में लिया निर्णय. अब अभ्यर्थियों के ज्वाइन ना करने की स्थिति में संबंधित विभाग को कई बार चयन बोर्ड से सूची नहीं पड़ेगी. 
सीएम अशोक गहलोत

जयपुर। राजस्थान सरकार ने मंगलवार को प्रशासनिक सुधार विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान एक अहम फैसला लिया है. इस दौरान अशोक गहलोत ने बैठक में बड़ा फैसला लेते हुए किसी भी भर्ती में स्वीकृत पदों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है.

अब स्वीकृत पदों पर पहले से अधिक संख्या में सूची भेजी जाएगी. जहां पहले राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड डेढ़ गुना चयनित अभ्यर्थियों की सूची भेजता था.

अब इसकी संख्या बढ़ाकर 3 गुना कर दी गई है. इससे युवाओं का ज्यादा लाभ होगा.

अब अभ्यर्थियों के जाॅइन न करने की स्थिति में संबंधित विभाग को बार-बार चयन बोर्ड से सूची नहीं मंगवानी पड़ेगी. एक ही बार 3 गुना अभ्यर्थियों की सूची मंगाए जाने के चलते विभाग से बार-बार सूची मंगाने की दरकार नहीं होगी.

साथ ही अभ्यर्थियों को दस्तावेज सत्यापन के लिए बुलाने और उनकी जाॅइनिंग का काम समय से पूरा हो सकेगा. इससे मेरिट में नीचे के अभ्यर्थियों को पोस्टिंग देने में आसानी होगी.

नीचे की रैंकिंग वाले अभ्यर्थियों को इसका सीधा लाभ मिलेगा. साथ ही उच्च मेरिट वालों के जॉइन न करने की स्थिति में निम्न मेरिट वालों को करीब साल भर तक प्रपत्रों की जांच पड़ताल व सूची मंगाने के झंझट से छुटकारा मिल सकेगा.

आरटीआई के आवेदन व सूचनाएं सभी ऑनलाइन

सीएम की मौजूदगी में आरटीआई के आवेदन एवं सूचनाएं देने का समस्त कार्य ऑनलाइन करने के लिए प्रशासनिक सुधार विभाग की कार्यकारी एजेंसी राजकाॅम्प के साथ एमओयू किया गया.

जयपुर: सैटेलाइट इमेज और ड्रोन लगाएगा अवैध खनन पर रोक

अब सूचना के अधिकार के तहत कोई भी जानकारी हासिल करने के लिए आवेदन व अपील आरटीआई पोर्टल (www.rti.rajasthan.gov.in) पर ऑनलाइन कर सकेंगे. आम जनता भी अब आसानी से किसी भी सूचना को घर बैठे मोबाइल द्वारा मंगा सकेगी.

इसके लिए आवेदन कर्ता को कुछ शुल्क जमा करना होगा. यह शुल्क भी ऑनलाइन जमा होगा जिसे आवेदनकर्ता डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, यूपीआई आदि के माध्यम से भी जमा कर सकता है. आवेदन शुल्क और प्रतिलिपि शुल्क भी ऑनलाइन जमा होगा. वहीं, सीएम गहलोत ने कहा कि ट्रांसफर के लिए केवल ऑनलाइन आवेदन ही स्वीकार किए जाएं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें