राजस्थान: अब औद्योगिक इकाइयों में लगा सकेंगे टूरिज्म यूनिट, गहलोत सरकार का फैसला

Naveen Kumar, Last updated: Tue, 22nd Feb 2022, 4:15 PM IST
  • गहलोत सरकार ने राजस्थान में अब औद्योगिक इकाइयों की जगह टूरिज्म यूनिट खोलने की अनुमति दे दी है. इसके लिए गहलोत सरकार ने नियमों में संशोधन किया है.
फाइल फोटो

जयपुर. राजस्थान में टूरिज्म को लेकर अच्छी खबर है. गहलोत सरकार ने अब औद्योगिक इकाइयों की जगह टूरिज्म यूनिट खोलने की अनुमति दे दी है. इसके लिए गहलोत सरकार ने नियमों में संशोधन किया है. जिसके तहत अब अगर कोई उद्यमी अपनी औद्योगिक इकाइयों के लिए आवंटित जमीन पर टूरिज्म यूनिट खोल चाहे, तो उन्हें सहूलियत दी गई है. नियमों में संशोधन के बाद राज्य सरकार ने इसे लेकर आदेश जारी किए हैं. 

जानकारी के अनुसार, राज्य सरकार की ओर औद्योगिक इकाईयां शुरू करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जमीन आवंटित की गई थी, लेकिन बहुत से उद्योग पनप नहीं सके. लेकिन, औद्योगिक इकाईयों पर अन्य बिजनेस बिना अनुमित के नहीं शुरू कर सकते थे. ऐसे में सरकार ने नियमों में संशोधन किया है. ऐसे उद्यमी जो उद्योग क्षेत्र में अपना कारोबार नहीं बढ़ा सके, वो अब अपनी औद्योगिक इकाई पर टूरिज्म यूनिट शुरू कर सकते हैं. उद्यमियों की मांग पर राज्य सरकार ने उन्हें यह छूट दी है. इसके आदेश राजस्व विभाग ने जारी कर दिए हैं.

पटना: अब पंचायत स्तर पर लगेंगे जागरूकता कैंप, सरकारी योजनाओं का मिलेगा लाभ

बता दें कि कई विधायकों ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर जमीन को अन्य इकाई के उपयोग में लेने के लिए मांग की थी. इन उद्यमियों को टूरिज्म यूनिट लगाने की छूट दी जाए. अब सरकार ने ऐसे उद्यमियों को राहत दे दी है. आपको बता दें कि जमीन आवंटन नियम 1959 के तहत औद्योगिक क्षेत्रों के लिए जमीन आवंटन किया जाता है. जमीन आवंटन से 2 साल के भीतर उद्योग स्थापित करना होगा. पर्यटन क्षेत्र के अलावा अन्य उद्योग स्थापित कर सकते हैं. भूमि का उपयोग कारखाने के अलावा नहीं किया जा सकेगा. नियमों में संशोधन के बाद 22 मई 2015 से पहले के आवंटियों को राहत मिलेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें