REET और सब इंस्पेक्टर परीक्षा के पेपर लीक के विरोध में 5 अक्टूबर को जयपुर में होगा बेरोजगारों का महापड़ाव

Somya Sri, Last updated: Sat, 2nd Oct 2021, 9:35 AM IST
  • राजस्थान में रीट और सब इंस्पेक्टर परीक्षा के पेपर लीक के विरोध में बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने 5 अक्टूबर को प्रदेश भर के हजारों युवाओं के साथ सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करने का ऐलान किया है. बेरोजगार एकीकृत महासंघ के पदाधिकारियों का कहना है कि परीक्षा में धांधली हुई है. इसके बावजूद भी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा रही है. जबकि विरोध करने पर बेरोजगार युवाओं को ही जेल में डाल दिया जा रहा है.
REET और सब इंस्पेक्टर परीक्षा के पेपर लीक के विरोध में 5 अक्टूबर को जयपुर में होगा बेरोजगारों का महापड़ाव (फाइल फोटो)

जयपुर: राजस्थान में रीट और सब इंस्पेक्टर परीक्षा के पेपर लीक के विरोध में बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने 5 अक्टूबर को प्रदेश भर के हजारों युवाओं के साथ सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करने का ऐलान किया है. बेरोजगार एकीकृत महासंघ के पदाधिकारियों का कहना है कि परीक्षा में धांधली हुई है. इसके बावजूद भी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा रही है. जबकि विरोध करने पर बेरोजगार युवाओं को ही जेल में डाल दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अब इसके खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी.

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने कहा कि कुछ लोग बेरोजगारों के आंदोलन को दबाना चाहते हैं , लेकिन ऐसा कभी नहीं होगा. उन्होंने कहा कि सरकार मुझे गिरफ्तार कर सकती है. लेकिन, बेरोजगारों की आवाज नहीं दबा सकती है. ऐसे में जब तक रीट और सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा की सीबीआई से जांच होने के साथ साथ दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी. तब तक प्रदेश भर के लाखों बेरोजगारों का आंदोलन जारी रहेगा.

REET नकल मामला: एक्शन में गहलोत सरकार, रातों रात 37 RAS अधिकारियों का ट्रांसफर

उपेन ने कहा कि राजस्थान में एक बड़ा नकल गिरोह काम कर रहा है जो हर भर्ती परीक्षा से पहले ही पेपर आउट कर लाखों बेरोजगारों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है. जिसमें कई राजनेता भी शामिल है. जिन्हें जल्द ही बेनकाब किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. तभी प्रदेश के लाखों बेरोजगारों को न्याय मिल सकेगा. इसके साथ ही प्रदेश में नकल पर नकेल कसने के लिए कानून भी बनाया जाना चाहिए. तभी भविष्य में इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लग पाएगा.

मालूम हो कि राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव को 30 सितंबर को 3 महीने पुराने एक मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था. हालांकि युवाओं के भारी विरोध के बाद उन्हें रिहा भी कर दिया गया था. पहले 30 सितंबर को ही जयपुर में महापड़ाव होना था. लेकिन अब यह 5 अक्टूबर को होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें