राठौड़ ने कहा- राजस्थान में कभी भी उजागर हो सकता है कांग्रेस का विद्रोह

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 10:35 PM IST
  • राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा कि आंतरिक कलह को छुपाने के लिए दूसरों पर आरोप लगा रहे मुख्यमंत्री. बार-बार मुख्यमंत्री का आपसी कलह से गिरती हुई अपनी सरकार को बचाने के लिए भाजपा को आरोपित करना हास्यापद है.
राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के उपनेता राजेन्द्र राठौड़

जयपुर. राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से भाजपा पर राजस्थान और महाराष्ट्र में सरकार को गिराए जाने के बयान पर वक्तव्य जारी कर कड़े शब्दों में निंदा की है. राठौड़ ने कहा कि आंतरिक कलह से जूझती कांग्रेस पार्टी में विद्रोह कभी भी जगजाहिर हो सकता है. इसलिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ऐसी बयानबाजी कर अपने विद्रोह को दबाने और जनता का ध्यान भटकाने के लिए भारतीय जनता पार्टी पर मनमाने आरोप लगाने की निकृष्ट राजनीति में लगे हुए हैं. 

राठौड़ ने कहा कि अपराध बोध से ग्रसित कांग्रेस सरकार के मुखिया स्वयं व कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी को नजरअंदाज कर भाजपा पर दोषारोपण करके कुंठा व्यक्त कर रहे हैं. किसी सरकार का 5 वर्ष तक शासन चलाना मुखिया का दायित्व होता है परन्तु राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हर क्षेत्र में अपनी विफलता पर आत्मपरीक्षण करने की बजाय अपराध बोध से ग्रसित होकर दूसरों को दोषी ठहराने में लगे हुए हैं. राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस सरकार के 2 वर्ष का कालखंड पूरा होने वाला है, लेकिन बार-बार मुख्यमंत्री का आपसी कलह से गिरती हुई अपनी सरकार को बचाने के लिए भाजपा को आरोपित करना हास्यापद है. जिस सरकार की बुनियाद ही अंतर्कलह और गुटबाजी पर टिकी हुई हो, उस सरकार का 5 वर्ष का शासन पूरा करना स्वाभाविक रूप से असंभव हो जाता है. 

लव जिहाद : राजस्थान में कानून बनाने के लिए भाजयुमो ने शुरू किया अभियान

राठौड़ ने कहा कि भाजपा द्वारा सरकार को गिराने के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आरोपों में अगर जरा भी सच्चाई होती तो वह बयानबाजी करने के सिवाय कोई पुख्ता प्रमाण देने में क्यों घबरा रहे हैं. राज्य सरकार खुद हॉर्स ट्रेडिंग में लगी हुई है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बागीदौरा से विधायक महेंद्रजीत सिंह मालवीय भी चुनावी सभा में बीटीपी के 2 विधायकों को 10-10 करोड़ रुपए देने की बात को स्वीकार कर अपनी ही खरीद-फरोख्त वाली कांग्रेस सरकार की कलई खोल चुके हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें