REET पेपर लीक: 10 फरवरी को राजस्थान बंद का ऐलान, रीट परीक्षा रद्द करने की मांग

Jayesh Jetawat, Last updated: Sun, 6th Feb 2022, 8:18 PM IST
  • राजस्थान में REET पेपर लीक मामले में हंगामा बढ़ता ही जा रहा है. प्रदेश के युवाओं ने रीट परीक्षा रद्द करने की मांग के साथ 10 फरवरी को राजस्थान बंद की चेतावनी दी है. युवा 7 से 9 फरवरी तक जयपुर में महापड़ाव डालेंगे.
10 फरवरी को राजस्थान बंद का ऐलान

जयपुर: राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET 2021) पेपर लीक मामले में अशोक गहलोत सरकार पर दबाव बढ़ता जा रहा है. प्रदेश के कई युवा एवं बेरोजगार संगठनों ने मिलकर 10 फरवरी को राजस्थान बंद करने का ऐलान किया है. बेरोजगार युवा रीट पेपर लीक मामले की सीबीआई जांच की मांग के साथ ही परीक्षा रद्द कर दोबारा आयोजित करने की मांग कर रहे हैं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक संयुक्त युवा अधिकार मोर्चा के बैनर तले राजधानी जयपुर में 7 से 9 फरवरी तक बेरोजगार महापड़ाव डालेंगे. इन्होंने 10 फरवरी को राजस्थान बंद का आह्वान भी किया है. इसमें प्रदेश भर से युवा और रीट अभ्यर्थी शामिल होंगे. इस मोर्चा में प्रदेश के 13 संगठन शामिल हैं.

प्रदर्शनकारी सोमवार सुबह 10 बजे जयपुर के त्रिवेणी नगर में इकट्ठा होंगे और वहां से शहीद स्मारक की ओर कूच करेंगे. 9 फरवरी तक शहीद स्मारक पर महापड़ाव डाला जाएगा. अगर राज्य स रकार इसके बाद भी उनकी मांगों पर विचार नहीं करती है, तो 10 फरवरी को प्रदेश भर में बंद बुलाया जाएगा.

राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री का बेतुका बयान, कहा- बीड़ी-तंबाकू से नहीं होता कैंसर, दिया ये तर्क

दूसरी ओर, बीजेपी नेता भी रीट मामले में गहलोत सरकार पर हमलावर है. विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने रविवार को कहा कि रीट परीक्षा में हुई धांधली अब जगजाहिर हो चुकी है. गहलोत सरकार फिर भी इस मामले की सीबीआई जांच नहीं करवा रही है. 

फिलहाल इस मामले की जांच राजस्थान एसओजी कर रही है. इस मामले में कई गिरफ्तारियां हो चुकी हैं. हाल ही में एसओजी ने बाड़मेर से पेपर लीक के आरोपी भजनलाल और अभ्यर्थी सोहनी देवी को गिरफ्तार किया था. उनके कब्जे से 84 लाख रुपये जब्त हुए थे.

राजस्थान में सरकारी नौकरी का मौका, तकनीकी सहायक के 1512 पदों पर निकली भर्ती

गहलोत सरकार ने पेपर लीक की जवाबदेही तय करते हुए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (RBSE) के अध्यक्ष डीपी जारोली को पद से बर्खास्त कर दिया था. आरबीएसई के दो पदाधिकारियों को भी सस्पेंड किया गया था. विधानसभा के आगामी बजट सत्र में भी रीट मुद्दे पर भारी हंगामा होने के आसार हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें