सौम्या गुर्जर के निलंबन के बाद जयपुर ग्रेटर नगर निगम की महापौर बनीं शील धाभाई

Smart News Team, Last updated: Tue, 8th Jun 2021, 2:06 PM IST
  • जयपुर ग्रेटर नगर निगम की कार्यवाहक महापौर बनीं शील धाभाई. मंगलवार 8 जून को सुबह नौ बजे संभाला अपना कार्य भार. 
जयपुर ग्रेटर नगर निगम महापौर शील धाभाई

जयपुर ग्रेटर नगर निगम में सौम्या गुर्जर सहित तीन पार्षदों के निलंबन के बाद शील धाभाई को सरकार ने महापौर के पद पर नियुक्त कर दिया है. शील दाभाई ने 8 जून मंगलवार को सुबह 9 बजकर 15 मिनट पर  पदभार ग्रहण किया है. यह दूसरी बार है जब शील धाभाई नगर निगम महापौर की कुर्सी संभालेंगी. 

जयपुर नगर निगम में कमिश्नर के साथ विवाद और हाथापाई मामले में नगर के तीन पार्षदों को सस्पेंड किया गया. इसके साथ ही नगर निगम महापौर डॉ सौम्या गुर्जर को मेयर की कमान छोड़नी पड़ी. इस मामले में कमिश्नर की शिकायत पर शुरूआती जांच की गई जिसमें चारों को दोषी पाया गया. 

जयुपर ग्रेटर कमिश्नर विवाद केस में महापौर सौम्या गुर्जर समेत तीन पार्षद सस्पेंड

राज्य की सरकार ने इस मामले में त्तकाल आरोपियों को सस्पेंड कर उच्च स्तरीय जांच का आदेश दिया है. शील धाभाई जयपुर में भाजपा के शक्तिशाली दावेदारों में से एक हैं. जिस वक्त सौम्या गुर्जर को महापौर बनाया गया शील धाभाई ने इस फैसले का विरोध किया था. लेकिन उनके इस विरोध से कुछ फायदी नहीं हुआ था. शील धाभाई के समर्थकों ने भी अपनी नाराजगी जताई थी. 

जयपुर मेयर सौम्या गुर्जर और पार्षदों के निलंबन के खिलाफ प्रदर्शन करेगी भाजपा

जयपुर ग्रेटर नगर निगम की कार्यवाहक महापौर इस परिस्थिति में भावुक भी हो गई थी. लेकिन उस वक्त कुर्सी ना मिलने का जो मलाल था वह आज शील धाभाई और उनके समर्थकों के दिल से निकल गया होगा. आज महापौर की कुर्सी से जुड़े सभी काम सभी जिम्मेदारियों को निभाने का मौका उन्हें दोबारा मिला है.  

राजस्थान नगर पालिका अधिनियम का धारा 69 क(1)iv के तहत शील धाभाई को कार्यवाहक महापौर का कार्यभार सौंपा गया.दूसरी तरफ जयपुर में भारतीय पुलिस अधिकारियों की बात करें तो 15 पुलिस सेवा अधिकारियों के पदस्थापन और स्थानान्तरण से पुलिस में हड़कंप मच गया है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें