सोशल मीडिया के जरिए खरीदारी करना पड़ सकता है महंगा, ऐसे फंसाते हैं साइबर ठग

Indrajeet kumar, Last updated: Sun, 31st Oct 2021, 6:30 PM IST
  • जयपुर में ऑनलाइन ठगी का मामला सामने आया है. जयपुर पुलिस ने एक करोड़ से भी अधिक की साइबर ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा किया है. ये ठग सोशल मीडिया एप्स के माध्यम से लोगों को फंसाकर महंगे विदेशी कंपनियों के मोबाईल सस्ते दाम पर दिलाने का झांसा देकर ठगी का शिकार बनाते थे.
स्वैप मशीन, दो दर्जन एटीएम और डेबिट कार्ड के साथ पकड़े गए दोनों साइबर ठग

रायपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर में ऑनलाइन ठगी का एक बड़ा मामला सामने आया है. जयपुर पुलिस ने एक करोड़ से अधिक की साइबर ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा किया है. पुलिस ने इन ठगों के पास से आधा दर्जन कार्ड स्वैप मशीन, दो दर्जन एटीएम और डेबिट कार्ड बरामद किया है. जयपुर दक्षिण पुलिस उपायुक्त हरेंद्र महावर ने बताया कि ठगों ने लोगों को विदेशी सामान सस्ते दर पर बेचने के नाम पर सोशल मीडिया एप्स के माध्यम से झांसे में ले रहे थे. लगातार ठगी की बढ़ते मामले को देखकर पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए ठगी करने वाले गिरोह का पता लगाने के लिए स्पेशल टीम का गठन किया.

मिली जानकारी के मुताबिक 20 मई को हरदयाल ने मामला थाना में शिकायत दर्ज कराया कि साइबर ठगों ने उसे अपना नाम एलीका निवासी रोमानिया किमडॉम बताया. आरोपी ने खुट को मोबाईल कारोबारी बताकर महंगा विदेशी मोबाइल सस्ते दाम में बेचने का झांसा दिया. मोबाईल खरीदने के लिए तैयार हो जाने के बाद साइबर ठगों ने एयरपोर्ट से डिलीवरी लेने हेतु कस्टम ड्यूटी चार्ज के नाम पर 25 हजार 500 रुपए खाते में जमा करवा लिए. साइबर अपराधियों ने व्हाट्सअप के जरिए फर्जी बिल भी भेजा. आगे आरोपियों ने और ज्यादा पैसा वसूलने के लिए पार्सल में विदेशी करेंसी होने का झांसा दिया और करेंसी की कीमत के नाम पर अलग-अलग खातों में पैसा जमा करवा लिया. जिसके बाद परेशान होकर पीड़ित हरेंद्र महावर ने थाने में जाकर शिकायत की. जिसके बाद पुलिस ने मुस्तैदी दिखते हुए दो आरोपियों को ट्रेस कर गिरफ्तार कर लिया है.

जोधपुर में दिनदहाड़े घर में घुसकर चाकू की नोक पर बच्ची को बनाया बंधक, सोना लेकर हुआ फरार

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी सौरभ चौहान और कमल लोहट नई दिल्ली के रहने वाले हैं. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है. पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि साइबर ठग सोशल मीडिया ऐप के माध्यम से चैटिंग कर लोगों से संपर्क करते थे और खुद को विदेशी महिला बताकर लोगों को फंसाते थे. ये आरोपी खुद को विदेशी कारोबारी बताकर विदेशी पार्सल एयरपोर्ट से लेने के लिए कस्टम ड्यूटी जमा जमा करवाने के नाम पर नाम पर खाते में पैसे जमा करा के ठगी करते थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें