नवजीवन क्रेडिट कोऑपरेटिव घोटाले में मुख्य आरोपियों की 4 लग्जरी कार SOG ने पकड़ा

Smart News Team, Last updated: Sun, 21st Mar 2021, 6:25 PM IST
  • 400 करोड़ रुपए के नवजीवन क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी में हुई धोखाधड़ी के बाद अब एसओजी ने मुख्य आरोपी गिरधर सिंह के 6 वाहन जब्त किए हैं.
नवजीवन क्रेडिट कोऑपरेटिव घोटाले में मुख्य आरोपियों की 4 लग्जरी कार SOG ने पकड़ा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: एसओजी 400 करोड़ रुपए की नवजीवन क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी में हुई धोखाधड़ी को लेकर सख्त जांच कर रही है. हाल ही में एसओजी ने मुख्य आरोपी गिरधर सिंह ​​​​​सोढ़ा के 6 वाहन जब्त किए हैं. जिनमें चार लग्जरी कारें और एक ट्रक शामिल हैं. जब्त वाहनों में केवल ट्रक ही मुख्य आरोपी गिरधर सिंह ​​​​​सोढ़ा के नाम पर रजिस्टर हैं. बाकी सारे वाहन सोढ़ा ने कंपनी के नाम से खरीदी थीं. लेकिन वह इनका निजी उपयोग करता था.

बता दें, नवजीवन क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी में करोड़ों रुपए के घोटाले का खुलासा हुआ था. जिसमें एसओजी ने नवजीवन क्रेडिट सोसायटी के प्रबंधक गिरधर सिंह, सहयोगी रावतसिंह को गिरफ्तार किया था. जांच में पता चला कि गिरधर सिंह ने अपने सहयोगियों संग मिलकर 400 करोड़ का गबन किया है.

एसआई व प्लाटून कमांडर भर्ती में तीन साल की आयु सीमा में छूट से हाईकोर्ट का इंकार

वहीं, जो गाड़ी एसओजी ने जब्त की हैं. उनमें आरोपी गिरधर सिंह सोढ़ा ने स्विफ्ट गाड़ी नवजीवन क्रेडिट कंपनी, एक होंडा क्रेटा, टोयोटा की फार्च्यून, बीएमडब्ल्यू और एक अन्य स्विफ्ट गाड़ी अलग-अलग बनाई फर्जी कंपनियों के नाम से खरीदी थी. एसओजी ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि गिरधर सिंह ने अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों के नाम से फर्जी कंपनियां बना रखी थीं. और उन्हीं कंपनियों के नाम से ही ये वाहन खरीदे थे.

नवजीवन क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी ने बाड़मेर समेत देशभर में 228 शाखाएं खोली थीं, इसमें 206 शाखाएं राजस्थान में थी. इनमें 1 लाख 93 हजार निवेशकों ने निवेश कर रखा था. एसओजी ने इस मामले की जांच की थी, तब 19 हजार पेज की चार्टशीट फाइल की थी.

एसएमएस अस्पताल में वार्ड से सैंपल लेने की व्यवस्था हुई फेल, मरीज लगा रहें चक्कर

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें