सोहन सेपट बने सबसे कम उम्र के सरपंच, 24 वर्ष की उम्र में 24 वोटों से जीता चुनाव

Smart News Team, Last updated: 08/10/2020 12:05 PM IST
  • सोहन सेपट ने मैकेनिकल से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की है. सोहन ने अपनी जीत का श्रेय जनता को दिया है. केंद्र सरकार और राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को गांव के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना ही सोहन का लक्ष्य है.
जयपुर में चल रहे पंचायत चुनाव के अंतिम चरण पूरे होने के बाद नतीजे भी आ गए.

जयपुर: जयपुर में चल रहे पंचायत चुनाव के अंतिम चरण पूरे होने के बाद नतीजे भी आ गए. नतीजों ने चौंकाने वाले आंकड़े सामने लाए हैं. जयपुर के पंचायत चुनाव में ढाणी गांव के सरपंच सबसे कम उम्र के सरपंच के रूप में चुने गए हैं. मात्र 24 वर्ष की आयु में उन्होंने सरपंच का चुनाव जीत लिया है. इन्होंने अपने निकटवर्ती प्रतिद्वंदी को मात्र 24 वोटों के अंतर से हराया है.

परिणाम की घोषणा होते ही उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी. इस दौरान लोगों ने फूल मालाओं से सोहन को लाद दिया. सोहन की उम्र मात्र 24 वर्ष है. वह युवा सरपंच के रूप में उभर कर सामने आए हैं. प्रदेश में सबसे युवा सरपंच के रूप में सोहन ने इस बार बाजी मारी है. सोहन ने इस बार गांव के विकास को चुनौती मानकर मतदाताओं के बीच घर-घर पहुंच कर गांव को आदर्श गांव के रूप में विकसित किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया था.

राजस्थान कांस्टेबल भर्ती परीक्षा की तारीख तय, 6,7 और 8 नवंबर को एग्जाम

जनता के बीच उन्होंने गांव को विकसित किए जाने का वादा किया. विकास को ही आधार मानकर उन्होंने जनता से वोट मांगा था. जनता ने सोहन का भरपूर समर्थन किया जिसके बाद जनता ने सोहन को ढाणी गांव का सरपंच बनाया. सोहन ने बताया कि यह उनकी जीत नहीं बल्कि जनता की जीत है. जनता के ही समर्थन से वह सरपंच बने हैं.उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया है जिससे कि गांव का समग्र विकास हो सके. सोहन का मानना है कि जब तक केंद्र और राज्य सरकार की योजनाएं पंचायत के अंतिम व्यक्ति तक नहीं पहुंचेंगी तब तक किसी भी गांव का विकास होना असंभव है.

यह तभी संभव हो सकेगा जब स्थानीय जनप्रतिनिधि योजनाओं का सही रूप से क्रियान्वित करें. सोहन ने कहा कि ढाणी गांव को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जाना ही मेरा लक्ष्य है. यह मेरी पहली प्राथमिकता होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें