जयपुर: बिना एमआरपी मास्क व अन्य सामान बेचने वाले सप्लायर फर्म पर कार्रवाई

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 9:13 AM IST
  • सरकार कोरोना काल में मुनाफाखोरी करने वालों पर लगाम लगाने के लिए प्रयास कर रही है. टोल फ्री नम्बर पर शिकायत भी दर्ज की जा रही है. इसी क्रम में जयपुर में विधिक माप विज्ञान विभाग ने कई फर्मों पर कार्रवाई की है.
प्रतिकात्मक तस्वीर 

जयपुर. विधिक माप विज्ञान विभाग ने जयपुर शहर के जयंती बाजार स्थित मेडिकल फर्म पर कार्रवाई की है. बताया जा रहा है कि विभाग को सरीन सर्जिकल सप्लायर्स के बारे में मुनाफाखोरी करने की शिकायतें मिल रही थी. जिस पर विभाग की टीम ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान विधिक माप विज्ञान टीम को थ्री प्लाई सर्जिकल मास्क 55 हजार, फेस शील्ड 975, हियरिंग एड 20, ऑक्सीमीटर 12 एवं चार ऑक्सीजन रेगुलेटर मिले. इन सभी नगों के पैकेटों पर एमआरपी एवं निर्धारित सूचना का डिस्प्ले नहीं पाए जाने पर सभी सामग्री को जब्त कर लिया गया.

 

उपभोक्ता मामले विभाग के शासन सचिव नवीन जैन ने बताया कि करौली में ऑक्सीमीटर एवं KN -95 मास्क को बिना डिक्लेरेशन के बेचे जाने पर चार मेडिकल स्टोरों के विरुद्ध कार्रवाई की. मनोज मेडिकल स्टोर, भानु ड्रग  स्टोर तथा अरोड़ा मेडिकल स्टोर हिंडौन सिटी पर ऑक्सीमीटर को बिना डिक्लेरेशन के बेचे जाने पर प्रत्येक फर्म के विरुद्ध पांच हजार एवं हरी मेडिकल स्टोर पर बिना डिक्लेरेशन के KN-95 मास्क के 35 पैकेटों को जब्त करते हुए 5 हजार रूपए की पेनल्टी लगाई.

जयपुर सर्राफा बाजार में सोना 290 व चांदी एक हजार रुपए बढ़ी, आज का मंडी भाव

शासन सचिव ने बताया कि विभाग की ओर से सोमवार को प्रदेश के विभिन्न जिलों में 38 निरीक्षण किए. निरीक्षण के दौरान एमआरपी से अधिक कीमत लेने एवं पीसीआर नियम 2011 की अवहेलना करने पर छः दुकानदारों के विरुद्ध प्रकरण दर्ज करते हुए 32 हजार 500 रुपए की पेनल्टी लगाई.

शासन सचिव ने बताया कि बाड़मेर में महावीर ट्रेडिंग कंपनी बालोतरा द्वारा वनस्पति तेल को एमआरपी से अधिक कीमत पर बेच रहा था, जिस पर विभाग द्वारा 5000 की पेनल्टी लगाई. उन्होंने बताया कि अजमेर के श्री बालाजी मार्ट पर धनिया, मिर्ची,दाल तथा चिप्स के पैकेटों पर पैकिंग  के संबंध में पीसीआर नियम 2011 के नियम 6 व 27 की अवेहलना पाई गई जिस पर टीम द्वारा 7 हजार 500 रुपए की पेनल्टी लगाई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें