लोकल को वोकल और ग्लोबल बनाने के लिए प्रतिभा को आगे बढ़ाना होगा: राज्यपाल

Smart News Team, Last updated: 10/08/2020 07:23 PM IST
  • जयपुर स्थित राजभवन से महामना मालवीय मिशन की ग्रामीण इकाई द्वारा आयोजित वाराणसी, उत्तर प्रदेश और देहरादून, उत्तराखंड की आपातिक अनुक्रिया समूह इकाइयों को राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने संबोधित किया.
कलराज मिश्र

राज्यपाल कलराज मिश्र ने युवाओं को नौकरी दाता बनाये जाने की आवश्यकता बताई है. राज्यपाल ने कहा है कि आत्मनिर्भर भारत के लिए युवाओं के प्रतिभा को सराहा जाना चाहिए और उन्हें आगे बढ़ाने के अवसर प्रदान करने चाहिए. श्री मिश्र ने कहा कि इसी से लोकल वोकल होगा और ग्लोबल भी बन सकेगा.

सोमवार को यहां राजभवन से वीडियो कोंफ्रेंस के माध्यम से महामना मालवीय मिशन की ग्रामीण इकाई द्वारा आयोजित वाराणसी, उत्तर प्रदेश और देहरादून, उत्तराखंड की आपातिक अनुक्रिया समूह इकाइयों को संबोधित कर रहे थे. राज्यपाल ने कहा कि आपतिक समूहों का उपयोग बाढ़, अकाल, भूकंप, भू-स्खलन, प्रदूषण जैसी अन्य समस्याओं के दुष्प्रभावों के निराकरण के लिये भी किया जा सकता है. इन समूहों में कार्य करने से छात्रों और स्वयंसेवकों में मानवीय मूल्यों की भावना को विकसित करने में मदद मिलेगी.

राज्यपाल मिश्र ने कहा कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के पुराने छात्र-छात्राओं तथा महामना के मानस पुत्रों की ओर से स्थापित महामना मालवीय मिशन, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बी.एच.यू.) के पूर्व-छात्रों का एक विश्वव्यापी संगठन है, जिसकी शाखाएं पूरे देश में हैं. राज्यपाल श्री मिश्र ने कहा कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के छात्रों एवं महामना के आदर्शों, नैतिक और आध्यात्मिक मूल्यों में विश्वास करने वालों द्वारा संचालित यह मिशन अपनी विभिन्न सेवा परियोजनाओं, शैक्षिक कार्यक्रमों और गतिविधियों के माध्यम से महामना के मूल्यों और विचारों को प्रचारित करने में प्रयासरत है जो आज की परिस्थिति में भारतीय समाज के नैतिक ताना-बाना को और अधिक सक्षम एवं सुदृढ़ बनाने के लिये तत्पर है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें