जयपुर सहित देश में एनएलयू में प्रवेश के लिए होगी तीन परीक्षाएंं

Smart News Team, Last updated: Sat, 12th Sep 2020, 2:35 PM IST
  • जयपुर. देश के टॉप लॉ यूनिवर्सिटी एन एल एस आई यू मेंं प्रवेश के लिए अलग से एग्जाम एनलैट आज आयोजित कर रही है. जिससे विवाद खड़ा हो गया है .
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर| जयपुर में देश की टॉप लॉ यूनिवर्सिटी एनएलएसआईयू बेंगलुरु प्रवेश के लिए अपना अलग एग्जाम नेशनल लॉ एडमिशन टेस्ट(एनलैट) आज आयोजित कर रही है. एनएलयू दिल्ली की प्रवेश परीक्षा पहले ही अलग थी. इस बार एआईएलईटी 26 सितंबर को है. अब बची हुई 21 एनएलयू क्लैट (28 सितंबर) के जरिए प्रवेश देंगी. बेंगलुरु के लिए परीक्षा अलग होने से अब तीन परीक्षाएं देनी होगी.

आपकों बता दें कि 2008 में पहला क्लैट एनएलएसआईयू ने ही आयोजित किया था. एनएलएसआईयू ने अलग होने की वजह बताई है कि उसने क्लैट में देरी का मुद्दा कई बार कन्सोर्टियम के सामने रखा. परीक्षा से जुड़े उसके सुझावों को भी रिजेक्ट कर दिया गया.

बेंगलुरु के वीसी प्रो. सुधीर कृष्णास्वामी को कंसोर्टियम के सचिव-कोषाध्यक्ष पद से हटाकर संस्थान की सदस्यता भी समाप्त कर दी गई. अब जिम्मेदारी नलसार हैदराबाद के वीसी प्रो. फैजान मुस्तफा के पास है. इस विवाद के बीच एनलैट को रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई जिसमें कोर्ट ने परीक्षा आयोजन की स्वीकृति दे दी, लेकिन रिजल्ट व प्रवेश सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अधीन रहेगा.

जयपुर: नीट, जेईई एडवांस्ड परीक्षाएं देंगे 8 लाख छात्र, नीट एग्जाम कल

हैदराबाद के वीसी प्रो. फैजान मुस्तफा ने बताया कि छात्र बिना किसी प्रतिबंध के दोनों परीक्षाओं के लिए योग्य हैं. दोनों परीक्षाएं समान हैं व स्टूडेंट्स उनके फॉर्मेट से परिचित हैं. इसलिए दोनों की तैयारी में उन्हें परेशानी नहीं आएगी. कई निजी यूनिवर्सिटीज पहले ही अलग परीक्षाओं से प्रवेश दे चुकी हैं. कई पब्लिक यूनिवर्सिटीज ने बिना एग्जाम के ही एडमिशन दे दिए हैं. छात्रों के पास चुनने के लिए कई विकल्प हैं. क्लैट 2020 से अलग होने के लिए एनएलएसआईयू ने कन्सोर्टियम से रिक्वेस्ट की है. हमें इस मामले में अभी तक कोई लिखित प्रतिक्रिया नहीं मिली है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें