जयुपर ग्रेटर कमिश्नर विवाद केस में महापौर सौम्या गुर्जर समेत तीन पार्षद सस्पेंड

Smart News Team, Last updated: Mon, 7th Jun 2021, 11:15 AM IST
  • जयपुर में नगर निगम आयुक्त के साथ हाथापाई मामले में ग्रेटर नगर निगम मेयर सौम्या गुर्जर सहित पार्षद अजय सिंह चौहान, पारस जैन चौहान और शंकर शर्मा को तत्काल सस्पेंड करने का आदेश दिया है.
महापौर सौम्या गुर्जर

जयपुर ग्रेटर नगर निगम आयुक्त के साथ हाथापाई मामले में राजस्थान सरकार ने जयपुर ग्रेटर मेयर सौम्या गुर्जर के साथ तीनों पार्षदों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. इस मामले में जयपुर ग्रेटर नगर निगम मेयर और तीनों पार्षदों को तत्काल सस्पेंड कर दिया है. स्वायत्त शासन विभाग ने भाजपा पार्षद अजय सिंह चौहान, पारस जैन चौहान और शंकर शर्मा सहित ग्रेटर मेयर को देर रात सस्पेंड किया है.

शुक्रवार को मेयर सौम्या गुर्जर और नगर निगम आयुक्त यज्ञमित्र देव सिंह के बीच गरमा गर्मी हो गई थी. इसके बाद भाजपा पार्षदों पर नगर आयुक्त के साथ हाथापाई करने और उन्हें पीटने का मामला सामने आया. जिसके बाद नगर निगम आयुक्त ने तीनों पार्षदों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया. आयुक्त की शिकायत के बाद राज्य सरकार ने शुरूआती जांच करवाई जिसमें तीनों पार्षद संग मेयर को दोषी पाया गया.

राजस्थान सरकार किसानों को बिना किराए देगी ट्रैक्टर-हल, जानें कैसे मिलेगा सामान

राज्य सरकार ने देर रात चारों को तत्काल सस्पेंड करने का आदेश देकर मामले की विस्तार से जांच करने को कहा है. स्वायत्त शासन विभाग ने मेयर और तीनों पार्षदों को अलग-अलग निलंबन आदेश जारी किया है. बता दें कि यह मामला मेयर सौम्या गुर्जर की मौजूदगी में नगर आयुक्त के साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने सरकारी काम में रूकावट डालने और मार-पीट करने का है. 

जयपुर गैंगरेप में खुलासा: बड़ी बहन के अफेयर में बाधा थीं दोनों बहनें इसलिए...

मेयर सौम्या गुर्जर के खिलाफ राजस्थान नगरपालिका अधिनियम 2009 धारा 39(3) के तहत न्यायिक जांच कराने का फैसला किया है. वहीं नगरपालिका अधिनियम 2009 धारा 39(6) के तहत मेयर को सस्पेंड करने का आदेश दिया है. सरकार के सस्पेंशन आदेश के बाद रविवार देर रात को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने देर रात को ट्वीटर के माध्यम से अपनी प्रतिक्रिया जताई है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें