अजमेर में किराए के मकान में रहने वाले पराग अग्रवाल का ट्विटर सीईओ बनने तक का सफर

Somya Sri, Last updated: Wed, 1st Dec 2021, 2:08 PM IST
  • सह-संस्थापक जैक डॉर्सी के सीईओ का पद छोड़ने के बाद पराग अग्रवाल को ट्विटर की जिम्मेदारी सौंपी गई है. उनकी नियुक्ति के बाद से ही हर तरफ उनकी चर्चा हो रही है. देश हो या विदेश हर शख्स उनके बारे में जानना चाहता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिस शख्स को आज ट्विटर के नया सीईओ बनाया गया. जिसके पास लाखों करोड़ों रुपये हैं. वो एक समय में किराए के मकान में रहते थे. जानिए पराग अग्रवाल के जीवन से जुड़ी कई अनसुनी बातें.
अजमेर में किराए के मकान में रहने वाले पराग अग्रवाल का ट्विटर सीईओ बनने तक का सफर (फाइल फोटो)

जयपुर: भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को ट्विटर का नया सीईओ बनाया गया है. सह-संस्थापक जैक डॉर्सी के सीईओ का पद छोड़ने के बाद पराग अग्रवाल को ट्विटर की जिम्मेदारी सौंपी गई है. उनकी नियुक्ति के बाद से ही हर तरफ उनकी चर्चा हो रही है. देश हो या विदेश हर शख्स उनके बारे में जानना चाहता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिस शख्स को आज ट्विटर के नया सीईओ बनाया गया. जिसके पास लाखों करोड़ों रुपये हैं. वो एक समय में किराए के मकान में रहते थे. जी हां पराग अग्रवाल और उनका परिवार राजस्थान के अजमेर में कई सालों तक किराए के मकान में रहे हैं. हालांकि पराग अब अमेरिका में रहते हैं. वहीं उनके माता पिता ने बाद में कहीं और घर बना लिया. हालांकि पराग के कई परिवार अब भी राजस्थान के अजमेर में रहते हैं.

सरकारी अस्पताल में जन्म लिए थे पराग अग्रवाल

जानकारी के मुताबिक पराग राजस्थान के अजमेर के जवाहरलाल नेहरू सरकारी अस्पताल में जन्म लिए थे. पराग अग्रवाल के पिता गोपाल अग्रवाल राजस्थान के रहने वाले हैं और माता भीलावाड़ा की रहने वाली हैं. पराग अग्रवाल के पिता ने भी इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और उसके बाद वो भाभा अटॉमिक रिसर्च सेंटर, मुंबई में नियुक्त हो गए.

राजस्थान में बेरोजगारों को इस महीने से 4 हजार भत्ता देना शुरू करेगी गहलोत सरकार

मुंबई में पढ़े पराग अग्रवाल 2011 में जुड़े थे ट्विटर से

बता दें कि पराग अग्रवाल की शुरूआती शिक्षा मुंबई से प्रारंभ हुई. जिसके बाद पराग ने 2011 में ट्विटर कंपनी ज्वाइन की थी और 2017 से कंपनी के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर (सीटीओ) हैं. ट्विटर से पहले पराग माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च और याहू के साथ काम कर चुके हैं. जब वह कंपनी में शामिल हुए थे तब ट्विटर के कर्मचारियों की संख्या 1,000 से भी कम थी. 37 साल के पराग अग्रवाल अब दुनिया की टॉप 500 कंपनियों के सबसे युवा CEO बन गए हैं.

हजारों लोगों के घर का सपना पूरा करेगी गहलोत सरकार, आम आदमी बनेगा मकान मालिक

अपनी लॉन्ग टाइम पार्टनर विनीता अग्रवाल से की शादी

बता दें कि ट्विटर के नए सीईओ पराग अग्रवाल अपनी लॉन्ग टाइम पार्टनर विनीता अग्रवाल से शादी की है. पराग और विनीता ने अक्टूबर, 2015 में सगाई करने के बाद जनवरी, 2016 में शादी की थी. दोनों कैलिफॉर्निया के सैन फ्रांसिस्को में रहते हैं. उनका एक अंश नाम का बेटा भी है. बता दें विनीता ने भी स्टैनफॉर्ड यूनिवर्सिटी और हारवर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है और वो स्टैनफॉर्ड स्कूल ऑफ मेडिसिन में फिजिशियन और सहायक क्लीनिकल प्रोफेसर हैं. इसके अलावा विनीता ने मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से पीएचडी किया है. विनीता ने मेडिकल और टेक्निकल फील्ड में अब तक काफी काम किया है और इस क्षेत्र में निवेश सलाहकार के रूप में भी काफी सक्रिय रहती हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें