फोन टैपिंग मामले पर केंद्रीय मंत्री शेखावत बोले, वॉइस सैंपल देने को हैं तैयार

Smart News Team, Last updated: Sat, 26th Jun 2021, 3:11 PM IST
  • फोन टैपिंग मामले में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा- मैं राजस्थान पुलिस को वॉइस सैंपल देने को तैयार हूं. भगौड़ा नहीं हूं अगर होता तो फिर मुझे प्रोटोकॉल देकर सुरक्षा क्यों करती पुलिस?
गजेन्द्र सिंह शेखावत फोन टैपिंग पर कहा वॉइस सैंपल देने को हैं तैयार भले ही राजस्थान पुलिस ही क्यों न हो.

राजस्थान की फोन टैपिंग मामले में कांग्रेस और बीजेपी के बीच चल रही जुबानी जंग लगातार बढ़ती जा रही है. फोन टैपिंग मामले में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत अब हमलावर हो गए है.  राजस्थान की कांग्रेस सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी के ट्वीट पर पलटवार करते हुए शेखावत ने कहा है कि मैं राजस्थान पुलिस को वॉइस सैंपल देने को तैयार हूं. भगौड़ा नहीं हूं अगर होता तो फिर मुझे प्रोटोकॉल देकर सुरक्षा क्यों करती पुलिस? 

सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी के भगौड़ा बताने के बाद केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने खुलकर पलटवार किया है. महेश जोशी के आरोपों पर केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि- मैं राजस्थान पुलिस को भी वॉइस सैंपल देने को तैयार हूं. जिस मुकदमे के आधार पर महेश जोशी वॉइस सैंपल देने की बात कर रहे हैं, वह मुकदमा देशद्रोह की धारा में दर्ज हुआ था और राजस्थान सरकार ने 15 दिन बाद ही उस मुकदमे को विड्रॉ कर लिया था. केस विड्रो होने के बाद भी राजस्थान की पुलिस मुझसे वाॅइस सैंपल मांगती है तो मैं देने को तैयार हूं.

BSP राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर रामजी गौतम का जयपुर में 2023 के चुनावों पर बड़ा बयान

केंद्रीय मंत्री ने कहा- मुझे तो जिले का एसपी प्रोटोकॉल दे रहा है, राजस्थान की पुलिस मेरी सुरक्षा कर रही है. राजस्थान के किसी जिले की पुलिस को मुझसे पूछताछ करनी है तो सहर्ष तैयार हूंं. तीन दिन पहले भी मैं राजस्थान में था, आगे भी दो दिन राजस्थान में ही हूं. भीलवाड़ा में यह बयान देने के बाद गजेंद्र सिंह शेखावत ने बातचीत में कहा- राजस्थान में कांग्रेस सरकार है. राजस्थान पुलिस मुझे प्रोटोकॉल दे रही है और मेरी सुरक्षा कर रही है. मैं भगौड़ा होता तो मुझे पकड़ा क्यों नहीं? मेरा वॉइस सैंपल क्यों नहीं लिया. मुझे वॉइस सैंपल देने के लिए कोई नोटिस भी नहीं मिला है, मिलता तो मैं जवाब देता. महेश जोशी को नोटिस मिला है, लेकिन वो बयान से बचने के लिए भाग रहे हैं. 

जयपुर: पूर्व मंत्री रोहिताश्व ने BJP पदाधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोला

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह ने कहा- मेरी एफआईआर में किसी नेता का जिक्र नहीं है. महेश जोशी का तो बिलकुल नहीं. फिर इन नेताओं को डर क्यों सता रही है, दिल्ली पुलिस अपना काम कर रही है. जांच में किससे पूछताछ करना है ये उनका पार्ट है. फोन रिकार्डिंग सीएम से जुड़े व्यक्ति लोकेश शर्मा ने वायरल की थी तो मुझे जानने का हक है कि रिकार्डिंग नियमों के अनुसार हुई या नहीं. मेरे और मेरी पत्नी के बीच संवाद या नेताओं से संवाद रिकॉर्ड हुए? यह जांच के बाद ही पता चलेगा. एक बार निष्पक्ष जांच होने दीजिए ये सरकार गिर जाएगी. वैसे इस तरह के कृत्य में 1980 में रामकृष्ण हेगड़े की सरकार चली गई थी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें