राजस्थान में पर्यटकों के लिए आज से वन्य-जीवों का दीदार करना हुआ महंगा

Smart News Team, Last updated: Thu, 1st Apr 2021, 10:56 PM IST
  • पर्यटकों के लिए राजस्थान के टूरिस्ट प्लेसों में जाना महंगा कर दिया गया है. अब पर्यटकों को अपनी जेब ज्यादा ढीली करनी होगी. वन्यजीवों व राष्ट्रीय उद्यानों में प्रवेश शुल्क के साथ अन्य शुल्क में भी बढ़ोतरी की गई है.
पर्यटकों के लिए वन्य जीवों का दीदार करना महंगा हो गया है

जयपुर. राजस्थान में आज वीरवार से पर्यटकों के लिए वन्यजीवों व राष्ट्रीय उद्यानों का दीदार करना महंगा हो गया है. राष्ट्रीय उद्यानों एवं वन्यजीव अभयारण्यों में पर्यटकों के प्रवेश शुल्क में फिर से 10 प्रतिशत वृद्धि की गई है. इसमें पर्यटक प्रवेश शुल्क, पर्यटक वाहन प्रवेश शुल्क, बोट एवं इलेक्ट्रिक वाहन प्रवेश शुल्क, बोटिंग शुल्क और कैमरा फीस की दरों में वृद्धि शामिल है. वन्यजीव अभयारण्यों में पर्यटकों के घूमने में लगने वाले शुल्क में वन विभाग की ओर से हर साल शुल्क में हर वर्ष 10 प्रतिशत वृद्धि की जाती है. कोरोना के बाद से टूरिज्म सेक्टर फिर से पटरी पर आने के लिए मेहनत कर रहा है, वहीं दूसरी ओर 10 फीसदी शुल्क में बढ़ोतरी से पर्यटन उद्योग पर काफी असर पड़ेगा. शुल्क वृद्धि से घरेलू और विदेशी पर्यटकों की जेब पर असर पड़ेगा और वे यात्रा करने से कतराएंगे.

देशी व विदेशी पर्यटकों अब ये लिया जाएगा शुल्क: सवाईमाधोपुर के रणथम्भौर टाइगर रिजर्व में भ्रमण पर आने वाले भारतीय पर्यटकों से 140 और विदेशी पर्यटकों से 1 हजार 70 रुपए प्रति पर्यटक वसूल किए जाएंगे वहीं केवलादेव नेशनल पार्क, भरतपुर, सरिस्का टाइगर रिजर्व अलवर और मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में भारतीय पर्यटकों से 105 और विदेशी पर्यटकों से 675 रुपए प्रति पर्यटक वसूले जाएंगे. वहीं अन्य अभयारण्यों में भारतीय पर्यटकों को 75 और विदेशी पर्यटकों को 410 रुपए प्रति पर्यटक देने होंगे.

विधायक को अपने क्षेत्र में बनानी थी एक मॉडल CSC, 99 विधायकों ने चयन ही नहीं किया

रणथम्भौर टाइगर रिजर्व में जिप्सी से भ्रमण के लिए पर्यटकों को 1 हजार 75 रुपए शुल्क देना होगा। जिप्सी से आधा दिन व पूरा दिन के लिए विशेष प्रवेश शुल्क है. भारतीय पर्यटकों के लिए पूरे दिन के लिए जिप्सी का शुल्क 39 हजार 930 रुपए प्रति वाहन प्रति यात्रा है और विदेशी पर्यटकों के लिए 53 हजार 240 रुपए प्रति वाहन प्रति यात्रा है. वहीं आधे दिन के लिए जिप्सी का शुल्क भारतीय पर्यटकों के लिए 19 हजार 965 रुपए और विदेशी पर्यटकों के लिए 26 हजार 620 रुपए प्रति वाहन प्रति यात्रा वसूला जाएगा. वहीं बस के लिए 805 रुपए और जीप के लिए 510 रुपए प्रति वाहन प्रति यात्रा देने होंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें