महिला विधायक ने राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष डोटासरा के कामकाज पर उठाए सवाल

Smart News Team, Last updated: 10/12/2020 11:35 AM IST
  • बामनवास से कांग्रेस विधायक इन्दिरा मीना ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है. विधायक ने लिखा है कि जनता की समस्याओं को बताने के लिए इस कोरोना काल में कितनी बार आपके बंगले पर आना पड़ेगा. इसके बाद भी क्या सुनिश्चित है कि उनके कार्य होंगे.
राजस्थान के बामनवास से कांग्रेस विधायक इन्दिरा मीना

जयपुर. राजस्थान कांग्रेस के भीतर अंदरूनी कलह एक बार फिर सामने आने लगी है. सरकार में जन प्रतिनिधियों की भी नहीं सुनी जा रही है. यही कारण है कि राजस्थान की गहलोत सरकार को कुछ महीने पहले अपनी सरकार बचाने के लिए करीब 34 दिन तक होटल में रहना पड़ा था. राज्य में एक बार फिर कांग्रेस के विधायकों की नाराजगी सामने आने लगी है. 

इस बार बामनवास से कांग्रेस विधायक इन्दिरा मीना ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के खिलाफ नाराजगी जाहिर की है. विधायक इंदिरा मीना ने एक फेसबुक पोस्ट की है. इसमें उन्होंने लिखा है कि माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत साहब के नेतृत्व में कैबिनेट की एक अहम बैठक आयोजित की गई. बैठक में जनहित में बहुत अच्छे निर्णय लिए गए हैं. माननीय मुख्यमंत्री महोदय के निर्देशानुसार उपखण्ड बोली और बामनवास को पूर्णतः किसान भाइयों के समर्थन में बंद रखा गया. बैठक के बाद  प्रदेशाध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. मैंने सुना कि विधायकों के द्वारा जनता की किस प्रकार सुनवाई करनी है, ये सब अध्यक्ष बता रहे हैं. एक विधायक होने के नाते मैं एक सवाल शिक्षा मंत्री व प्रदेश अध्यक्ष से पूछना चाहूंगी कि विधायकों द्वारा जनता की समस्याओं को जब आपको बताया जाएगा तो उसके लिए इस कोरोना काल में कितनी बार आपके बंगले पर आना पड़ेगा. 

राजस्थान पंचायत चुनाव : पीसीसी चीफ डोटासरा सहित कई मंत्री भी अपने जिले में फेल

इसके बाद भी क्या यह सुनिश्चित है कि उनके कार्य होंगे या फिर उनके द्वारा दी गई चिट्ठी को कचरा पात्र में डाल दिया जाएगा. बता दें कि राजस्थान में यह पहला मौका नहीं है जब मंत्रियों पर खुद कांग्रेस के विधायकों ने ही सुनवाई नहीं करने के आरोप लगाए हैं. इससे पहले भी विधायकों ने अपनी ही सरकार के मंत्रियों के खिलाफ आवाज उठाई है.

विधायक इन्दिरा मीना की पोस्ट
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें