जयपुर में 1.26 लाख रुपये की रिश्वत लेने पर एक्सईएन और एईएन हुए गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 17/10/2020 07:57 PM IST
  • जयपुर में राजस्थान पुलिस आवासन निर्माण निगम लिमिटेड के एक्सईएन और एईएन द्वारा सवा लाख की रिश्वत लेने का मामला सामने आया है. हालांकित भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने सवा लाख की रिश्वत लेते हुए दोनों को रंगे हाथों पकड़ लिया है.
जयपुर में सवा लाख की रिश्वत लेने का मामला सामने आया है

जयपुर: जयपुर में राजस्थान पुलिस आवासन निर्माण निगम लिमिटेड के एक्सईएन और एईएन द्वारा सवा लाख की रिश्वत लेने का मामला सामने आया है. हालांकि, भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने सवा लाख की रिश्वत लेते हुए दोनों को रंगे हाथों पकड़ लिया है. इस मामले को लेकर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारी दोनों से पूछताछ में लगे हुए हैं. रिश्वत लेने वाले आरोपी का नाम गिर्राज सिंह चाहर और अशोक कुमार वर्मा बताया जा रहा है. इसमें गिर्राज सिंह चाहर की उम्र 62 वर्ष है और वह झोटवाडा के कृष्णा नगर के निवासी हैं तो वहीं अशोक कुमार वर्मा की उम्र 54 वर्ष है जो कि श्रीकल्याण नगर के रहने वाले हैं.

रिश्वत लेने के आरोपी गिर्राज सिंह पुलिस मुख्यालय लालकोठी स्थित आरपीएचसीसीएल में एईएन और अशोक कुमार वर्मा एक्सईएन पीडब्लूडी डीजीएम के पद पर विद्यमान हैं. बीते 12 सितम्बर को दोनों के खिलाफ शिकायत एक परिवादी ने ब्यूरों में शिकायत की थी कि सातवीं बटालियन आरएसी में 35 क्वार्टर के निर्माण के कार्यादेश जारी है. इसमें कार्यादेश के बिलों के भुगतान में एईएन गिर्राज सिंह खुद के लिए 2 प्रतिशत, एक्सईएन अशोक कुमार के लिए 1 प्रतिशत और लेखा शाखा के लिए 0.50 प्रतिशत राशि की रिश्वत की मांग कर रहे हैं.

जयपुर में जेडीए ने 20 करोड़ की जमीन को कराया अतिक्रमण मुक्त

मामले में दोनों के खिलाफ शिकायत पर एसीबी की टीम ने ट्रेप का आयोजन किया और सत्यापन के दौरान 68 हजार रुपए दिलाए गए. इसके बाद बाकी घूस की राशि को शनिवार सुबह तक देने की बात की गई. वहीं, पहले से तैयार एसीबी टीम ने रिश्वत के 1 लाख 26 हजार रुपए लेने के मामले में आरोपित गिर्राज सिंह व अशोक कुमार को गिरफ्तार किया गया. एसीबी टीम रिश्वतखोर दोनों आरोपियों के कार्यालय और घरों पर भी तलाशी कर रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें