अक्षय तृतीया पर बैंड-बाजा-बाराती के बिना होगी जयपुर में शादियां

Smart News Team, Last updated: Fri, 14th May 2021, 8:47 AM IST
  • अक्षय तृतीया को आखा तीज भी कहा जाता है. हर बार इस दिन हजारों शादियां होती हैं. लेकिन, इस बार 11 लोगों की मौजूदगी में घर पर ही सादगी से विवाह होगा. फिर भी इस कोरोना काल के बीच सिर्फ आज के दिन जयपुर में 891 शादियां होंगी .
प्रतिकात्मक तस्वीर 

जयपुर. गंगा स्नान व दान पुण्य का माह माने जाने वाले वैशाख मास में इस बार भी कोरोना के चलते अक्षय तृतीया को सादगी पूर्वक मनाया जाएगा. इस दिन शादियों के भी अबूझ मुहूर्त होते हैं और बड़ी संख्या में शादियां होती है. लेकिन इस महामारी में जयपुर में आज 891 शादियां होगी. सरकार के पोर्टल पर लोगों ने शादियों की जानकारी दी है. पोर्टल के अनुसार 31 मई तक पूरे राज्य में करीब 13 हजार शादियां होंगी. इनमें सख्त लॉकडाउन की पालना कराई जाएगी. घर पर होने वाली शादियों में 11 मेहमान ही शामिल हो पाएंगे. इन पर प्रशासन की नजर रहेगी.

 

बता दे कि राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद लॉकडाउन चल रहा है. ऐसी स्थिति में सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से अपील की थी वे फिलहाल 31 मई तक होने वाली शादियां टाल दें. साथ ही शादियों में दूल्हा-दुल्हन, पंडित समेत 11 लोगों की अनुमति दी गई थी. हालांकि सीएम की अपील के बाद बहुत लोगों ने शादियों को टाल दिया. लेकिन, कुछ लोग अभी भी शादियां कर रहे हैं. इन शादियों में ना तो बैंड-बाजा होगा और ना ही बाराती. शादियां किसी मैरिज गार्डन या होटल में नहीं हो पाएगी. दूल्हा-दुल्हन के घर पर ही शादी होगी. शादी में 11 लोगों से अधिक की मौजूदगी पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा. बता दें कि प्रदेश में आखा तीज पर बाल विवाह भी होता है. ऐसे में प्रशासन उन पर भी अपनी निगाहें रखेगा. इन शादियों में खाना भी नहीं होगा. साथ ही हलवाई या टेंट संचालक सामान की होम डिलीवरी भी नहीं करेंगे.

ईद का दिखा चांद, ये पकवान बनाएंगे आपके त्योहार को यादगार, पढ़ें रेसिपी

अक्षय तृतीया का दिन धार्मिक और मांगलिक कार्यों के लिए अति शुभ माना जाता है. इस दिन सोना या सोने के आभूषण खरीदने का बड़ा महत्व होता है. ऐसी मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन सोना या सोने के आभूषण खरीदने से सालभर तक आर्थिक उन्नति होती है. माता लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है और सुख समृद्धि में वृद्धि होती है. लेकिन, लॉकडाउन में ज्वेलरी शॉप बंद हैं। इसलिए लोग आभूषण भी नहीं खरीद पाएंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें