किरण माहेश्वरी को श्रद्धांजलि देने भाजपा मुख्यालय पहुंचे कांग्रेस नेता महेश जोशी

Smart News Team, Last updated: 02/12/2020 06:00 PM IST
  • राजस्थान विधानसभा में सरकारी मुख्य सचेतक और कांग्रेस नेता महेश जोशी को जब जयपुर स्थित प्रदेश भाजपा मुख्यालय में किरण माहेश्वरी की श्रद्धांजलि सभा के बारे में पता चला तो वे पार्टी लाइन से उपर उठकर भाजपा मुख्यालय पहुंचे और वहां माहेश्वरी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी.
दिवंगत विधायक किरण महेश्वरी को श्रद्धांजलि अर्पित करते कांग्रेस नेता महेश जोशी

जयपुर. अक्सर राजनीति में नेताओं को विधानसभा में तो कई बार मंचों पर एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते देखा जाता है. लेकिन दुख की घड़ी में राजनीतिक विरोध को भूलकर ये नेता एक-दूसरे के दुखों पर मरहम भी लगाते हैं. राजस्थान की राजनीति में भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री रही किरण माहेश्वरी के निधन के बाद बाद भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला, जहां उनके तस्वीर पर पुष्प अर्पित करने वालों में कांग्रेस के नेता भी नजर आए. 

दरअसल, भाजपा के जयपुर स्थित प्रदेश मुख्यालय पर किरण माहेश्वरी के निधन के बाद श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया था. ऐसे में भाजपा नेताओं के साथ ही कांग्रेस नेता भी वहां पहुंचे और माहेश्वरी को श्रद्धासुमन अर्पित किए. विधानसभा में सरकारी मुख्य सचेतक और कांग्रेस नेता महेश जोशी को जब भाजपा मुख्यालय में किरण माहेश्वरी की श्रद्धांजलि सभा के बारे में पता चला तो वे पार्टी लाइन से उपर उठकर भाजपा मुख्यालय पहुंचे और वहां माहेश्वरी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी. 

जयपुर : निगम ने नहीं ली सुध तो गंदे पानी में ही धरने पर बैठे पार्षद और व्यापारी

इस अवसर पर भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री अल्का गुर्जर, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचारक निम्बाराम, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरूण चतुर्वेदी, अशोक परनामी, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच, प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा, प्रदेश मंत्री विजेंद्र पूनियां, श्रवण सिंह बगड़ी, अशोक सैनी, जयपुर शहर अध्यक्ष राघव शर्मा, विधायक नरपत सिंह राजवी, वासुदेव देवनानी, अशोक लाहोटी, जयपुर ग्रेटर नगर निगम की महापौर सौम्या गुर्जर, पूर्व विधायक सुरेंद्र पारीक, मोहनलाल गुप्ता समेत अन्य नेताओं ने भी माहेश्वरी को श्रद्धांजलि अर्पित की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें