उर्जा संरक्षण पर क्विज, जीतने वाले को मिलेगा नौकरी का ऑफर, जानें डिटेल्स

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 04:59 PM IST
  • 14 दिसंबर यानि राष्ट्रीय उर्जा संरक्षण दिवस पर देशभर के इंजीनियरिंग छात्रों के लिए क्विज का आयोजन किया जा रहा है जिसमें स्टूडेंट्स सिर्फ उर्जा संरक्षण को लेकर जागरूक नहीं होंगे बल्कि साथ में उनके लिए सर्टिफिकेट के साथ नौकरी पाने का भी बेहतरीन अवसर है.
देशभर के इंजीनियरिंग छात्रों के लिए नौकरी पाने का मौका.

जयुपर. राष्ट्रीय उर्जा संरक्षण दिवस यानि 14 दिसंबर को क्विज का आयोजन किया जाता है. जिसमें देशभर से इंजीनियरिंग के छात्र हिस्सा ले सकते हैं. द पॉवर ऑफ कंजर्व अवार्ड 2020 क्विज में हिस्सा लेने वाले छात्रों को सर्टिफिकेट के साथ नौकरियां भी मिल सकती हैं.  

यह वार्षिक आयोजन राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस (14 दिसंबर) पर होता है. आठवें साल हो रहा यह आयोजन ऊर्जा और जल संरक्षण की तकनीकों में दिलचस्पी रखने वाले तीसरे और चौथे वर्ष के इंजीनियरिंग छात्रों के लिए है. हर साल इस क्विज में देश भर के नामी इंजीनियरिंग विश्वविद्यालय, आईआईटी, एनआईटी और बीआईटी भाग लेते हैं. क्विज की आयोजक डिजायर एनर्जी सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड है. जिसने ऊर्जा संरक्षण, रिन्यूएबल एनर्जी (अक्षय ऊर्जा), वॉटर इन्फ़्राऑटोमेशन, वॉटर इन्फ़्रास्ट्रक्चर और जल उपचार परियोजना प्रबंधन क्षेत्रों में ख़ासा नाम कमाया है और पुरस्कार जीते हैं.

ऑनलाइन क्विज में हिस्सा लेने के इच्छुक छात्र 14 दिसंबर तक www.desireenergy.com पर रजिस्टर कर सकते हैं. क्विज दो हिस्सों में होगी. पहला सत्र सुबह 11 से 12 बजे और दूसरा 3 से 4 बजे तक होगा. इस साल की क्विज़ की थीम है: ऊर्जा और जल संरक्षण की तकनीकें. ये क्विज़ इसलिए भी दिलचस्प है क्योंकि अग्रणी रहने वाले दस भागीदारों को डिज़ायर एनर्जी सॉल्यूशंस की तरफ़ से नौकरी का प्रस्ताव दिया जाएगा. भाग लेने वाले हर कॉलेज से क्विज़ में शीर्ष रहने वाले तीन छात्रों को भव्य पुरस्कार समारोह में विशेष प्रमाणपत्र दिए जाएंगे. 

 इसी दिन दोपहर 12 बजे से 2 बजे के बीच ‘COVID-19 के समय में ऊर्जा दक्षता: भारत में आर्थिक सुधार का समर्थन’ पर उद्यमियों के साथ वेबिनार का आयोजन होगा. "इंडियाज़ रोड टु अ ग्रीन इकोनॉमिक रिकवरी" और "जल और स्वच्छता में सतत ऊर्जा" विषयों पर दो पैनल चर्चाएं होंगी। वेबिनार में भाग लेने के इच्छुक www.desireenergy.com पर रजिस्टर कर सकते हैं.

द पॉवर ऑफ कंज़र्व अवार्ड-2020 की घोषणा करते हुए डिज़ायर एनर्जी सॉल्यूशंस के संस्थापक और प्रबंध निदेशक गौरव कुमार गुप्ता ने कहा- “हमारे सर्वे के मुताबिक़ भारत का कुल ऊर्जा घाटा 73 गीगावाट है. हालांकि ऊर्जा संरक्षण के ज़रिए हम सालाना 75 गीगावाट से ज़्यादा बिजली बचा सकते हैं. इस तरह, नए पावर प्लांट्स की ज़रूरत नहीं होगी और सालाना 72000 करोड़ रुपए बचेंगे. इसी विचार पर आधारित डिज़ायर एनर्जी एक बीईई सर्टिफ़ाइड ईएससीओ कंपनी की तरह काम करती है, जो 12 शहरों और 300 गाँवों के सार्वजनिक जल वितरण का प्रबंधन करके साढ़े पांच करोड़ यूनिट बिजली बचाती है.” 

जयपुर: नए साल के मौके पर जयपुर एयरपोर्ट से शुरू होगी सात नई फ्लाइट

ग्लोबलाइज़ेशन के युग और रिन्यूएबल एनर्जी (अक्षय ऊर्जा) की बढ़ती प्रासंगिकता को देखते हुए जल प्रबंधन प्रौद्योगिकी के बारे में उनका कहना था- “पिछले दशक में ऊर्जा संरक्षण समाधानों के लिए काम कर रहीं हमारी तरह की कंपनियों ने जल समस्याओं को लेकर प्रचलित धारणाओं को बदला है. अब हम हर घर, गाँव और समुदायों तक पहुँचने और उन्हें साफ़ और ताज़ा पानी मुहैया करवाने में सक्षम हैं. अभी भी बहुत कुछ करना बाक़ी है, पर हमें यक़ीन है कि हम सरकारी संगठनों और संस्थानों की तरफ़ से मिल रहे सहयोग से अपने लक्ष्य जल्द ही हासिल कर लेंगे.”

‘’जल प्रबंधन-ऊर्जा संरक्षण” के डिज़ायर मिशन को तब तक हासिल नहीं किया जा सकता जब तक नौजवानों, ख़ासकर इंजीनियरिंग छात्रों में ऊर्जा संरक्षण एक आदत के बतौर विकसित न की जाए, क्योंकि वही भविष्य में ऊर्जा दक्ष भारत का निर्माण करेंगे.

‘द पॉवर ऑफ कंज़र्व अवार्ड- 2020’ में डिज़ायर एनर्जी सॉल्यूशंस की सहयोगी कंपनी प्राइमस पार्टनर्स के सह-संस्थापक निलय वर्मा का कहना था- “डिज़ायर एनर्जी सॉल्यूशंस भारत में जल और ऊर्जा संरक्षण क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रही है. यह प्रौद्योगिकी - संचालित क्षेत्र है और इसलिए स्वाभाविक है कि हम इंजीनियरिंग छात्रों के पास जाएं और इस क्षेत्र में उनकी अभिरुचि बढ़ाएं. और इसके लिए क्विज़ से बेहतर और क्या तरीक़ा हो सकता है?” 

अचार संहिता बनी बाधा, राजस्थान में हजारों शिक्षक व कर्मचारी तबादले के इंतजार में

1982 में स्थापित डिज़ायर एनर्जी भारत और विश्व भर में अपने चैनल पार्टनर नेटवर्क के ज़रिए सक्रिय है. कंपनी आईएसओ 9001:2008 और आईएसओ 14000:2015 से प्रमाणित है.

कंपनी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 18 अक्तूबर 2016 को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है. यह पुरस्कार सेवा क्षेत्र में बेहतरीन कार्य के लिए दिया गया था.

यह कंपनी ईएससीओ परियोजनाओं, सोलर पंप, सोलर रूफ़टॉप परियोजनाओं, रिमोट मॉनिटरिंग सिस्टम, स्काडा और स्वचालन, वॉटर इन्फ़्रा टर्न-की परियोजनाओं, समुदाय आधारित रिवर्स ऑस्मॉसिस संयंत्र, डि-फ्लोराइडेशन परियोजनाओं में सक्रिय भूमिका निभा रही है.

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                

                                                                                                                                                                                                                                                  

                                                                                                                                                                                                                                                         

                                                                                                                                                                                                                                                                 

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                            

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                 

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                  

                                                                                                                                                                                                                                    

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                  

                                                                                                                                                             

                                                                                                                                                                             

                                                                                                                                                                                                                                          

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें