बसपा विधायकों के कांंग्रेस में विलय पर हाईकोर्ट ने जारी किया सीपी जोशी को नोटिस

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 11:15 PM IST
राजस्थान में बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के मामले में भाजपा विधायक मदन दिलावर और बसपा पार्टी ने हाईकोर्ट की एकलपीठ के आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी है। आज इस मामले पर सुनवाई के दौरान खंडपीठ ने विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को नोटिस जारी कर सुनवाई कल तक के लिए स्थगित कर दी
डॉ सी पी जोशी, राजस्थान विधानसभा के स्पीकर हैं।

राजस्थान में कांग्रेस की गहलोत सरकार में चल रहे सियासी घमासान में बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय होने के मामले में आज भाजपा विधायक मदन दिलावर और बसपा पार्टी ने  हाईकोर्ट की एकलपीठ के अंतरिम आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी। पूरे मामले में हाईकोर्ट ने आज सुनवाई करते हुए विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को गुरुवार सुबह 10.30 बजे तक जवाब मांगा है। वहीं, कल सुबह तक के लिए सुनवाई भी टाल दी गई है। सीजे इंद्रजीत महांति और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने इस मामले में सुनवाई की। याचिका में विधायकों के कांग्रेस में विलय को रद्द करने की मांग की गई है। याचिकाकर्ताओं का कहना है कि मौजूदा हालातों में बसपा विधायकों को नोटिस तामील कराना संभव नहीं है। ऐसे में 30 जुलाई के आदेश को खंडपीठ में चुनौती दी गई है। आपकों बता दे कि 30 जुलाई को हाईकोर्ट ने बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के मामले में विधानसभा स्पीकर, सचिव और 6 विधायकों को नोटिस भेजा था। जिनमें 11 अगस्त तक जवाब मांगा गया था। बसपा ने गुहार लगाई कि जब तक मामला कोर्ट में है। तब तक बसपा के विधायकों को फ्लोर टेस्ट में किसी भी पक्ष को वोट नहीं डालने दिया जाए।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें