जयपुर समेत राज्य के अन्य ज़िलों के अस्पतालों में लगेगा अब ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट

Smart News Team, Last updated: Thu, 13th May 2021, 9:59 AM IST
कोरोना महामारी में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए चिकित्सा विभाग ने बड़ा फैसला किया है. जयपुर समेत राज्य के सभी ज़िलों के 60 या अधिक बेड वाले अस्पतालों को ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगाना होगा.
प्रतिकात्मक तस्वीर 

जयपुर. कोरोना महामारी के दौरान ऑक्सीजन की कमी लगातार देखी जा रही है. ऐसे में चिकित्सा विभाग ने महत्वपूर्ण आदेश जारी किया है. अब 60 या इससे अधिक बेड वाले निजी अस्पतालों को अगले दो महीने में ऑक्सीजन प्लांट लगाना अनिवार्य होगा. चिकित्सा विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन ने आदेश जारी करते हुए कहा कि कोरोना के सक्रिय मरीजों की बढ़ती संख्या, संक्रमण दर और संक्रमण के स्तर में हो रही वृद्धि के कारण बढ़ती ऑक्सीजन की मांग को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है. महाजन ने बताया कि उद्योग विभाग की ओर से पहले ही मेडिकल ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट की स्थापना पर विशेष पैकेज घोषित किया जा चुका है.


चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर रघु शर्मा ने कहा है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर में अस्पतालों में ऑक्सीजन की सबसे अधिक जरूरत है. ऐसे में सरकार सभी संभव उपायों के जरिए ऑक्सीजन की व्यवस्था कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकारी कोविड डेडीकेटेड सेंटर्स के अतिरिक्त जिन निजी अस्पतालों में 60 या उससे अधिक बेड्स है, वहां के 50 प्रतिशत बेड्स पर ऑक्सीजन की व्यवस्था होना जरूरी है. डॉक्टर शर्मा ने कहा कि ऐसे निजी चिकित्सालयों में सेंट्रलाइज ऑक्सीजन पाइपलाइन की स्थापना हो और कम से कम 50 प्रतिशत बेड्स इस सिस्टम से जुड़े हो. उन्होंने कहा कि इस सिस्टम के जरिए मरीजों को निरंतर ऑक्सीजन मिल सके, इसके लिए अस्पताल में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट 2 माह में स्थापित किया जाना अनिवार्य है.

जयपुर में 18+ के लिए वैक्सीन लगभग खत्म, आज चुनिंदा केन्द्रों पर ही होगा टीकाकरण

माना जा रहा है कि तीसरी लहर की आशंका के चलते चिकित्सा विभाग ने यह कदम उठाया है. यदि इन सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगता है तो मरीजों को काफी राहत मिल जाएगी. एक्सपर्ट्स का कहना है कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए यह जरुरी हो गया है कि प्लांट अस्पतालों में लगाया जाए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें