जयपुर: राजस्थान की पूर्व विधानसभा अध्यक्ष नहीं कर पाएंगी अपने पति के अंतिम दर्शन

Smart News Team, Last updated: 09/08/2020 12:35 PM IST
  • राजस्थान की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष सुमित्रा सिंह खुद कोरोना से जंग लड़ रही हैं. वहीं उनके पति नाहर सिंह की कोरोना से मौत हो गई है. सुमित्रा सिंह अस्पताल में भर्ती हैं, इसके कारण वे अपने पति के अंतिम दर्शन नहीं कर पाएंगी
कोरोना वायरस

कोरोना ने जीवन के कई पहलुओं में काफी कुछ बदल दिया है. एक महिला जो खुद कोरोना से जंग लड़ रही हैं. वहीं उनके पति की कोरोना से मौत हो गई है. जिसकी वजह से वह अपने पति के अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाएंगी. हम बात कर रहे हैं राजस्थान की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष सुमित्रा सिंह की.

सुमित्रा सिंह राजस्थान के झुंझनू से 9 बार विधायक रहीं. वो अपने इलाके में तमाम लोगों के सुख दुःख में शामिल हुईं, लेकिन आज दुर्भाग्यपूर्ण है कि वो खुद अपने पति की अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हो पाएंगी. गौरतलब है कि कोरोना पॉज़िटिव होने की वजह से उनके पति नाहर सिंह की शनिवार को मृत्यु हो गई थी.

बता दें कि सुमित्रा सिंह का पूरा परिवार कोरोना से संक्रमित है. वो खुद अस्पताल में भर्ती हैं. जिसके चलते न ही सुमित्रा सिंह और न ही उनके परिवार का कोई सदस्य उनके पति नाहर सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल हो पाएंगे.

क्या है पूर्व विधानसभा अध्यक्ष का राजनीतिक जीवन

सुमित्रा सिंह को राजस्थान की पहली महिला विधानसभा अध्यक्ष होने का गौरव प्राप्त है. वो राजस्थान के झुंझनू से 1952 में चुनाव जीत कर पहली बार विधायक बनीं. तभी सुमित्रा सिंह और नाहर सिंह की शादी हुई थी. अब तक सुमित्रा 9 बार विधायक रही हैं. उनके पूरे राजनीतिक जीवन में पति नाहर सिंह साये की तरह उनके साथ रहे थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें