जयपुर: सोम पुष्य नक्षत्र में दूध से हुआ भगवान श्री गणेश का अभिषेक, पूजा अर्चना

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 02:35 PM IST
  • जयपुर. कोरोना काल में श्रद्धालुओं द्वारा बनाए गए फूल बंगले में विराजे गणपति महाराज, सोम पुष्य नक्षत्र में भगवान श्री गणेश का अभिषेक कर प्रथम पूज्य से श्रद्धालुओं ने की कोरोना मुक्ति की कामना.
भगवान श्री गणेश

जयपुर। सोमवार को सोम पुष्य नक्षत्र के अवसर पर भगवान श्री गणेश की धूमधाम से आराधना की गई. इस दौरान श्रद्धालुओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भगवान श्री गणेश की विधि विधान से पूजा अर्चना की गई. अंत में प्रसाद वितरण के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ.

आश्विन कृष्ण पक्ष द्वादशी सोमवार को सोम पुष्य नक्षत्र के मौके पर प्रथम पूज्य के मंदिरों में भगवान गणेश का पंचामृत अभिषेक हुआ. इस दौरान बड़े गणेश मंदिरों में कोरोना संक्रमण के चलते भक्तों का प्रवेश निषेध रहा. कुछ मंदिरों में ही श्रद्धालुओं को प्रवेश मिल सका, वहीं सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन का पालन करते हुए श्रद्धालु भगवान श्री गणेश की विधिवत पूजा अर्चना किए.

मोती डूंगरी गणेश मंदिर में अभिषेक नहीं हुआ. अन्य मंदिरों में शाम को गणपति को नवीन पोशाक धारण कराकर फूल बंगले में विराजमान किया जाएगा. चांदपोल स्थित परकोटे वाले गणेश मंदिर में सुबह मंत्रोच्चारण के साथ विधिवत अभिषेक पूजा की गई.

इसके बाद गणपति को नवीन पोशाक धारण करवाई गई. भक्तों ने गणपति स्त्रोत अष्टोत्तरशतनाम के पाठ कर सुख- समृद्धि की कामना की, साथ ही 101 किलो दूध से अभिषेक किया गया. अंत में भक्तों को हल्दी की गांठ वितरित की गई.

यहां भी आयोजित हुए कार्यक्रम

ब्रह्मपुरी स्थित नहर के गणेशजी के महंत जय शर्मा के सान्निध्य में गणपति का अभिषेक कर नवीन पोशाक धारण करवाई गई. मोदकों का भोग अर्पण किया गया.

शाम को 251 दीपकों से आरती हुई, साथ ही चौड़ा रास्ता के काले गणेशजी, दिल्ली बाईपास रोड स्थित आत्माराम गणेश मंदिर में भी अभिषेक हुए. चांदपोल बाजार के खेजड़ों का रास्ता के गणेश मंदिर में गणेश जी का गुलाब व केवड़ा जल से अभिषेक किया गया.

गलता गेट स्थित गीता गायत्री गणेश मंदिर में पंडित राजकुमार चतुर्वेदी के सान्निध्य में गणेश जी का विशेष श्रृंगार किया गया. गणपति अथर्वशीर्ष के पाठ महिला मंडल की ओर से किए गए.

सूरजपोल बाजार स्थित श्वेत सिद्धि विनायक मंदिर में महंत मोहनलाल शर्मा के सान्निध्य में गणेशजी का पंचामृत अभिषेक कर नवीन पोशाक धारण करवाई गई. अंत मे प्रसाद वितरण किया गया. श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण कर अपने घरों की ओर प्रस्थान किया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें