जयपुर में कोरोना मरीज को आईसीयू बेड बेचने वाला दलाल नर्सिंगकर्मी गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Aug 2021, 7:02 AM IST
  • जयपुर में दो दिन पहले जहाँ नकली रेमडेसिविर इन्जेक्शन की कालाबाजारी करते हुए सरकारी डॉक्टर और दो दलालों को दबोचा था. वहीं इस बार एसीबी ने सबसे बड़े कोविड डेडीकेटेड सरकारी अस्पताल आरयूएचएस के आईसीयू में बेड दिलाने की एवज में 1 लाख 30 हजार रुपए माँगने के मामले में दलाल नर्सिंगकर्मी को गिरफ्तार किया है .
प्रतिकात्मक तस्वीर

जयपुर. राजस्थान के सबसे बड़े कोविड डेडीकेटेड सरकारी अस्पताल आरयूएचएस में बेड दिलाने के नाम पर गोरखधंधा सामने आया है. सरकार के कोविड पोर्टल पर जहाँ एक भी बेड खाली नहीं दिखाया जाता है, तो दूसरी ओर पैसों में बेड को बेच दिया जाता है. एसीबी ने इस मामले में खुलासा करते हुए आरयूएचएस में 1 लाख 30 हजार रुपए में बेड बेचने के मामले में शहर के मेट्रो मास अस्पताल के नर्सिंगकर्मी को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपी का नाम अशोक कुमार गुर्जर है, जो मूलत: भरतपुर के बयाना का रहने वाला है. एसीबी ने आरोपी को 23 हजार रुपए  घूस लेते रंगें हाथों गिरफ्तार किया है. जबकि 93 हजार रुपए वह पीड़ित से पहले ही ले चुका है.

जानकारी के अनुसार एसीबी को एक पीड़ित ने परिवाद दिया था. जिसमें बताया गया कि वह परिवार की 53 वर्षीय महिला को कोविड पॉजिटिव होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराना चाह रहा था. लेकिन, वहाँ पर बेड उपलब्ध नहीं था. इसी दौरान उसका संपर्क नर्सिंगकर्मी अशोक से हुआ. जिसने कहा कि वह दो डॉक्टर्स के जरिए अस्पताल के आईसीयू में बेड दिलवा देगा  लेकिन, इसके लिए दो लाख रुपए लगेंगे. इसके बाद सौदा एक लाख 30 हजार रुपए में तय हो गया. आरोपी ने 93 हजार रुपए ले लिए, इस बीच महिला मरीज की मौत हो गई. इसके बाद भी वह यह कहकर बकाया राशि की माँग कर रहा था कि पैसा आगे तक जाएगा.

एसीबी को धौलपुर निवासी पीड़ित ने शुक्रवार को शिकायत दी थी. जिसमें बताया कि डॉक्टर और दलाल ने आईसीयू में बेड दिलाने के लिए 1 लाख 30 हजार रुपए में सौदा तय किया था. जिसमें से 93 हजार रुपए ले चुका है और मरीज की मौत के बाद भी 35 हजार रुपए और माँग रहा है. परिवादी की शिकायत पर एसीबी के एएसपी बजरंग सिंह ने  माँग का सत्यापन किया. इसमें पुष्टि हुई कि दलाल रिश्वत मांग रहा है. दलाल ने आरयूएचएस के अन्य डॉक्टर और केंद्र सरकार तक एप्रोच लगाकर आईसीयू में बेड दिलवाने का दावा किया. उसने कहा कि पैसा आगे तक जाएगा. इस पर शेष राशि शनिवार को देना तय हुआ. परिवादी ने दलाल को 35 हजार में से 23 हजार रुपए ही दिए. तब आरोपी दलाल नर्सिंगकर्मी ने शेष 12 हजार रुपए भी मांगे. मौके पर एसीबी ने आरोपी को रंगें हाथों पकड़ कर लिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें