जयपुर: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को जनवरी में मिलेगा ये तोहफा

Smart News Team, Last updated: 10/10/2020 02:08 PM IST
  • राजस्थान में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग की ओर से जयपुर एवं उदयपुर जिला मुख्यालयों पर 13-13 करोड़ रुपये की लागत से ट्राइबल यूथ हॉस्टल एवं करियर सेंटर बनाए जाने का ऐलान किया गया है. इसमें उन्हें हॉस्टल, पार्किंग, किचन, लाइब्रेरी और स्टोर जैसी सुविधाएं दी जाएंगी.
जयपुर एवं उदयपुर जिला मुख्यालयों पर ट्राइबल यूथ हॉस्टल एवं करियर सेंटर बनाए जाने का ऐलान।

जयपुर. प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे जनजाति विद्यार्थियों के लिए खुशखबरी है. दरअसल, राजस्थान में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग की ओर से जयपुर एवं उदयपुर जिला मुख्यालयों पर 13-13 करोड़ रुपये की लागत से ट्राइबल यूथ हॉस्टल एवं करियर सेंटर बनाए जाने का ऐलान किया गया है. इसके तहत जनजाति विद्यार्थियों को आवास, भोजन और प्रशिक्षण से जुड़ी सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी.

जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजेश्वर सिंह ने बताया कि इस जयपुर सेंटर के निर्माण के लिए राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड को जिम्मेदारी सौंप दी गई है. जयपुर सेंटर का निर्माण सांगानेर तहसील में जवाहर सर्किल के पास मौजा सवाई गेटोर में आवंटित की गई 1606 वर्गमीटर भूमि पर किया जा रहा है. इस प्रोजेक्ट पर अभी तक करीब 291 लाख रुपये खर्च किये जा चुके हैं और वहीं जनवरी 2021 तक इसके पूरे होने की संभावना भी जताई जा रही है.

पुजारी हत्याकांड: कांग्रेस पर भड़की BJP, सूबे के लोगों से माफी मांगे राहुल गांधी

जयपुर सेंटर का निर्माण भूतल से आठवें तक तक किया जाएगा, जिसमें पार्किंग, रिसेप्शन, कार्यालय, ट्रेनिंग हॉल, लैब, लैक्चर हॉल, मल्टी परपज हॉल, डायनिंग हॉल, किचन, स्टोर, वार्डन, क्वार्टर और 150 विद्यार्थियों के लिए होस्टल शामिल है. जयपुर सेंटर से इतर उदयपुर सेंटर के बारे में बात करते हुए राजेश्वर सिंह ने बताया कि नगर विकास प्रन्यास की ओर से चित्रकूट नगर में भूमि आवंटन की प्रक्रिया पर विचार किया जा रहा है. इसके निर्माण की जिम्मेदारी भी राज्य कृषि विपणन बोर्ड को दी गई है और निविदा कार्य पूरा कर कायार्देश भी जारी कर दिया गया है. उदयपुर सेंटर में भी वेटिंग एरिया, पार्किंग, लाइब्रेरी, किचन, स्टोर, वार्डन क्वार्टर तथा 150 विद्यार्थियों के लिए छात्रावास शामिल है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें