जयपुर: राजस्थान में 116 दिनों बाद कल से खुल जाएंगे मंदिरों के कपाट

Smart News Team, Last updated: 06/09/2020 07:06 PM IST
  • राजस्थान में जयपुर सहित प्रदेश के तमाम धार्मिक स्थल मंदिर, मस्जिदों के पिछले 116 दिनों से बंद दरवाजें कल से खुल जाएंगे. मंदिर में सेंसर वाली घंटी सहित हैंडवॉश की व्यवस्था की गई है.
धौलपुर चोपड़ा शिव मंदिर

राजस्थान में करीब 116 दिनों के बाद धार्मिक स्थलों के दरवाजें खुलेंगे और फिर आस्था की गंगा बहती नजर आएगी. पिछले लम्बे समय से इंतजार कर रहे भक्तों का कल 7 सितम्बर को इंतजार पूरा हो जाएगा. इसके लिए राजस्थान के गहलोत सरकार ने गाइड लाइन जारी की है, जिसके बाद अब कल से मंदिर प्रबंध समितियों ने तैयारियां पूरी कर ली हैं. हालांकि कुछ बड़े मंदिरों में दर्शन के लिए भक्तों को अभी इंतजार करना होगा.

जगतपुरा स्थित कृष्ण बलराम मंदिर प्रबंधन ने केंद्र और राज्य सरकार की गाइडलाइन की पालना करते हुए मंदिर के गेट से अंदर तक 50 गोले बनाए हैं, जिसमें दर्शनार्थी बारी-बारी से दर्शन कर सकेंगे. मंदिर में मास्क के बिना प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

मंदिर के सभी प्रवेश और निकासी द्वार पर थर्मल स्कैनर, हैंडवॉश और सेनेटाइज की व्यवस्था की गई हैं. मंदिर के अंदर दर्शनार्थियों के प्रवेश करते ही बिना छुए घंटियां बजना शुरू हो जाएगी. मंदिर में सेंसर वाली घंटी सहित हैंडवॉश की व्यवस्था की गई है. शहर के प्रमुख हनुमान मंदिर खोले के हनुमान जी सोमवार से भक्तों के लिए खोल दिए जाएंगे. यहां पर श्रद्धालुओं को सोशल डिस्टेंसिंग एवं कोरोना गाइडलाइन के तहत मापदंडों के साथ श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जाएगा.

आगरा: गुम हो गई रेलवे की 2 किलोमीटर जमीन, 100 साल पुराने कागज ढूंढ रहे अधिकारी

सुरक्षा व्यवस्थाओं के तहत मंदिर के बाहर और अंदर गोले बनाए गए ताकि श्रद्धालु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दर्शन कर सकें. मंदिर के अंदर एक साथ 21 श्रद्धालुओं को 21 सर्किल में खड़ा किया जाएगा. मंदिर सुबह 5 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक और शाम 4 से रात्रि 10:00 तक दर्शन के लिए खुला रहेगा.

उधर बड़े जैन मंदिर सात सितंबर को नहीं खुलेंगे. आगामी 15 दिन बाद पुन:समीक्षा कर मंदिर खोलने का निर्णय लिया जाएगा. मोतीडूंगरी गणेश मंदिर, गोविंददेवजी मंदिर, झारखंड महादेव मंदिर, ताड़केश्वर महादेव मंदिर में दर्शनों के लिए अभी इंतजार करना होगा.

अन्य खबरें