जयपुर: कोरोना पर विधानसभा की बहस में हुआ हंगामा, भाजपा-कांग्रेस आमने सामने

Smart News Team, Last updated: 21/08/2020 11:40 PM IST
  • राजस्थान की विधानसभा में शुक्रवार को कोरोना पर विशेष चर्चा के दौरान सदन में हंगामा हो गया. इस पर बयानबाजी को लेकर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने हो गए.
अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

जयपुर. राजस्थान के विधानसभा सत्र के दौरान शुक्रवार को कोरोना पर विशेष चर्चा के दौरान सदन में हंगामा हो गया. हुआ ये कि भाजपा विधायक कालीचरण सर्राफ ने गहलोत सरकार पर राजनीतिक भेदभाव से काम करने के आरोप लगा दिए. इन आरोपों पर सत्ताधारी विधायकों ने नाराजगी जाहिर की, जिसके बाद सदन में जमकर हंगामा हुआ. इसके चलते सदन की कार्यवाही तीन बार स्थगित करनी पड़ी तथा भाजपा विधायक कालीचरण सर्राफ के आरोप को भी कार्यवाही से हटाना पड़ा. इस दौरान भाजपा व कांग्रेस के विधायक कई बार आमने-सामने हो गए.

गहलोत सरकार के चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा के कोरोना पर दिए गए वक्तव्य के बाद भाजपा के पूर्व चिकित्सा मंत्री व भाजपा विधायक कालीचरण सर्राफ ने सरकार पर कड़े प्रहार किए. कोरोनाकाल के दौरान गहलोत सरकार की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाते हुए उन्होंने सरकार पर राजनीतिक भेदभाव से काम करने के आरोप लगाए.

सर्राफ ने कहा कि कोरोना के इस संकटकाल में भी गहलोत सरकार ने चेहरे देख कर लाभ पहुंचाया और नगर निगम के अधिकारियों से मिलीभगत करके काम किया गया. सिर्फ इतना ही नहीं जिन अधिकारियों ने इमानदारी से काम किया, सरकार के नुमाइंदों ने उनका ट्रांफर करा दिया.

इसके बाद सत्तापक्ष के विधायकों ने नाराजगी जाहिर की.सत्तापक्ष की ओर से मंत्री शांति धारीवाल, बीडी कल्ला, प्रताप सिंह खाचरियावास ने विपक्ष के बयान पर जमकर प्रहार किया. वहीं गुलाब चंद कटारिया और राजेन्द्र राठौड़ की प्रताप सिंह खाचरियावास से तीखी बहस हो गयी. सदन में हंगामे और शोर-शराबे के बाद सभापति महेन्द्र जीत सिंह और बाद में राजेन्द्र पारीक ने सदन की कार्यवाही को बीच मे ही स्थगित कर दिया. बाद में दो बजे से कार्यवाही शुरू हो सका.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें