जयपुर: गैस और तेल के बाद राजस्थान में मिला पानी का भंडार

Smart News Team, Last updated: 27/08/2020 02:39 PM IST
  • जयपुर. पानी की किल्लत वाले राजस्थान में अब जल का संकट समाप्त होने जा रहा है. यहां पर धरती के नीचे वैज्ञानिकों ने पानी के अथाह भंडार को खोज लिया है.
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर. राजस्थान एक स्थान ऐसा है जहां पानी के लिए लोग तरसते हुए नजर आते हैं. इसी राजस्थान के रेतीले तारों में पहले तेल और गैस का भंडार मिला था. वहीं अब वैज्ञानिकों ने पानी के भंडार को भी खोज निकाला है. वैज्ञानिकों द्वारा की गई खोज में पाकिस्तान सीमा से सटे बाड़मेर जिले के माडपुरा बरवाला में पानी का छोटा सा सागर मिला है. जिसमें 4800 खरब लीटर पानी मौजूद है. पानी का यह भंडार जालौर जिले तक फैला हुआ है.

राजस्थान के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी का कहना है कि केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय को इस दिशा में काम करना चाहिए. जिससे कि जरूरतमंदों को पानी मिल सके.  

जयपुर: 10 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया रेलवे का प्रोजेक्ट हेल्पर

भूवैज्ञानिक अनिल पालीवाल के अनुसार पेट्रो भौतिक डेटा, भूकंप सर्वेक्षण और विस्तृत हाइड्रो जियोलॉजिकल जांच के आधार पर केयर ऑयल एंड गैस कंपनी ने बाड़मेर बेसिन में थूमबली जल भंडारों की खोज की है. जिस इलाके में यह पानी फैला हुआ है उसमें बायतु, शिव, बाड़मेर, गुड़ामालानी से लेकर जालौर जिला भी शामिल है. इस पानी की गहराई 350 से 1500 मीटर तक है.  

जयपुर: राजस्थान में कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन पर 5.55 लाख लोगों के कटे चालान

वैज्ञानिकों ने बताया कि यह पानी खारा है इसमें लवलीयता अधिक है. उनका मानना है कि खाड़ी देशों की तर्ज पर इस पानी को पीने योग्य बनाया जा सकता है. अनुमान है कि यह पानी 10 लाख की आबादी की कई सालों तक प्यास बुझा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें