राम मंदिर पर राजस्थान मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा एकता और भाईचारे की बन सकती मिशाल

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 11:23 PM IST
  • मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राम का मंदिर हमारे देश में एकता और भाईचारे की मिशाल बन सकता है, वहीं परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने अपने दो माह का वेतन और एक चांदी की ईंट भेंट करने का ऐलान किया।
राम मंदिर

देश और दुनियां में की आस्था की केंद्र बनी दशरथनंदन की अयोध्या में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भूमिपूजन के साथ ही कांग्रेसी भी रामधुनी करने लगे है। पिछले दो दिनों में जो कांग्रेस अक्सर राम मंदिर को लेकर बयानबाजी करती थी अब उसी कांग्रेस के नेता रामधुनी का राम अलाप रहे है। इस लिस्ट में राजस्थान में कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक ट्वीट करते हुए लिखा कि भगवान राम का मंदिर हमारे देश में एकता और भाईचारे का प्रतीक बन सकता है।

 मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लिखा कि भगवान राम हमारी संस्कृति और सभ्यता में एक अनोखा स्थान रखते हैं। उनका जीवन हमें सच्चाई, न्याय, सभी की समानता, करुणा और भाईचारा सिखाता है। हमें भगवान राम द्वारा दिए गए मूल्यों पर आधारित एक समतावादी समाज की स्थापना पर ध्यान देने की आवश्यकता है। भगवान राम का मंदिर हमारे देश में एकता और भाईचारे का प्रतीक बन सकता है। वहीं गहलोत सरकार के परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने अपने निवास पर रामायण पाठ रखा गया। उन्होंने ट्विट कर कहा कि अयोध्या में भगवान राम के मंदिर निर्माण में अपने 2 माह का वेतन और एक चांदी की ईंट भेंट करूंगा। साथ ही विधानसभा सत्र के बाद अयोध्या जाकर भगवान राम के दर्शन करूंगा ।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें