जयपुर: हैवी ट्रैफिक और जाम से शहरवासियों को मिलेगा छुटकारा

Smart News Team, Last updated: Tue, 17th Nov 2020, 6:46 PM IST
  • एनएचआई की ओर से दक्षिणी रिंग रोड को लोगों को खोल दिया है जिस कारण अब शहर के कई इलाकों के लोगों को राहत मिलेगी. इस रोड के बंद होने के चलते ट्रैफिक शहर के कई इलाकों से होकर गुजरता था लेकिन अब शहर में वाहनों की आवाजही कम हो जाएगी
रिंग रोड प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर. दक्षिण रिंग रोड पर नेशनल हाइवे अथॉरिटी (एनएचएआई) ने वाहन चालकों के लिए खोल दिया है और यहां ट्रैफिक संचालन शुरू करवा दिया है. जिसके चलते अब जयपुर शहर में 10 हजार से ज्यादा छोटे-बडे़ वाहनों का दबाव कम हो जाएगा. अब अजमेर से जयपुर होकर आगरा, भरतपुर जाने वाले लोगों को जयपुर से होकर नहीं गुजरना पड़ेगा. इससे शहरवासियों को ट्रैफिक जाम की समस्या से भी राहत मिलेगी. जानकारों के मुताबिक अनुमान है कि आने वाले समय में करीब 20 हजार वाहनों की आवाजाही कम हो जाएगी. जिससे लोगों को राहत मिलेगी.

रिंग रोड के बनने से खासकर पृथ्वीराज नगर दक्षिण, मॉडल टाउन, जगतपुरा, खो-नागोरियान मालवीय नगर आदि कॉलोनियों के लोगों की परेशानी कम हो जाएगी क्योंकि रिंग रोड के काम के चलते हैवी ट्रेफिक शहर के बीच में से इन्ही क्षेत्रों से होकर गुजर रहा था. इस रिंग रोड पर गुजरने वाले वाहनों से 50 से लेकर 350 रुपए तक टोल लिया जाएगा. 47 किलोमीटर रास्ते में वाहन चालकों को दो बार टोल देना पड़ेगा. पहला टोल आगरा रोड के नजदीक हिंगोनिया और दूसरा टोल सीतारामपुरा में है.

सिब्बल को मीडिया में कांग्रेस के आंतरिक मुद्दे उछालने की आवश्यकता नहीं थी :गहलोत

उल्लेखनीय है कि इस परियोजना की नींव 2012 में रखी गई थी लेकिन तबकी सरकार ने इसे एनएचआई को दे दिया और काम ना हो सका. साल 2019 में इसका शुभारंभ हुआ लेकिन तब प्रोजेक्ट का कुछ काम रह गया था, इसलिए इसे शुरू नहीं किया गया. अब एनएचएआई ने इस प्रोजेक्ट को पूरा कर दीपावली से यहां यातायात संचालन शुरू करवा दिया. जिससे शहर के कई पॉश इलाके के लोगों को ट्रैफिक से छुटकारा मिला है क्योंकि वाहनों की आवाजाही अब रिंग रोड से शुरू होने से सभी भारी वाहन वहां से गुजरना शुरू हो चुके हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें