जयपुर: कांग्रेस और सपा ने मेरी रिहाई के लिए किया कड़ा संघर्ष- डॉ. कफील खान

Smart News Team, Last updated: 05/09/2020 06:54 AM IST
  • इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर रासुका हटाए जाने के बाद मथुरा जेल से रिहा हुए डॉ. कफील खान. डॉ कफील ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को धन्यवाद दिया. बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में हुए ऑक्सीजन कांड के बाद से चर्चा में रहे डॉ कफील खान
मथुरा जेल से रिहाई के बाद डॉक्टर कफील खान 

जयपुर। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर रासुका हटाए जाने के बाद मथुरा जेल से रिहाई के बाद डॉ. कफील खान ने जयपुर में गुरुवार को प्रेस कॉन्फेंस के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ-साथ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का भी समर्थन व सहयोग के लिए धन्यवाद किया.

डॉ. कफील खान को मथुरा जेल के गेट से लेकर जयपुर तक ले जाने का काम कांग्रेस नेताओं ने किया. कफील खान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के संपर्क में बने हुए हैं. प्रियंका की सलाह पर ही वह राजस्थान गए हैं.

इस बात को कफील खान खुद भी स्वीकार कर रहे हैं कि प्रियंका गांधी वाड्रा ने उनकी मदद की है और उनके कहने पर ही वह जयपुर आए हैं.

कफील खान ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है, इसलिए हम यहां सुरक्षित रह सकते हैं. हमारे परिवार को भी ऐसा ही लग रहा है, क्योंकि यूपी जाएंगे तो कोई न कोई केस लगाकर फिर से हमें जेल में डाल दिया जाएगा.

डाॅक्टर कफील खान के परिवार के सदस्य भी जयपुर पहुंच गए हैं, जिनमें उनकी मां, पत्नी, बच्चे और भाई हैं.

वह सभी फिलहाल जयपुर के एक रिजाॅर्ट में ठहरे हुए हैं. डाॅक्टर कफील खान की रिहाई से लेकर जयपुर तक साथ मौजूद उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज आलम का कहना है कि हमारी पार्टी हर उस निर्दोष के साथ खड़ी है, जिसके साथ योगी सरकार सूबे में अत्याचार और जुल्म कर रही है.

सीएए-एनआरसी के विरोध मामले में योगी सरकार ने बेगुनाह जिन लोगों को फंसाया है, उन सभी से प्रियंका गांधी संपर्क में हैं और कांग्रेस उनकी लड़ाई लड़ रही है.

कांग्रेस के पूर्व विधायक दल के नेता प्रदीप माथुर ने कहा

कांग्रेस के पूर्व विधायक दल के नेता प्रदीप माथुर ने कहा, ‘मैं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के निर्देश पर कफील खान के मामले को लेकर मथुरा और अलीगढ़ के जिला प्रशासन के साथ नियमित रूप से संपर्क में था.

डाॅक्टर कफील के भाई सपा के संपर्क में

डॉ. कफील खान की भले ही कांग्रेस के साथ फिलहाल बॉंडिंग दिख रही हो, लेकिन सपा भी उन्हे अपने पाले में लाने की कवायद कर रही है.

सूत्रों की मानें तो कफील खान के भाई कासिफ जमाल पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के संपर्क में हैं, इन दिनों कासिफ भी कफील खान के साथ जयपुर में हैं.

यही वजह है कि डॉ. कफील खान प्रियंका के साथ-साथ अखिलेश यादव का भी धन्यवाद कर रहे हैं‌.

सपा प्रवक्ता और पूर्व मंत्री अताउर्रहमान ने कहा कि डॉ. कफील खान सपा में आते हैं तो हम उनका स्वागत करेंगे.

उनका कहना है कि सूबे में सपा ही योगी सरकार के खिलाफ मजबूती से लड़ रही है. कफील खान की रिहाई के लिए कांग्रेस ने सिर्फ बयानबाजी करने का काम किया है, असल लड़ाई तो सपा नेताओं ने लड़ी है. कांग्रेस का न तो सूबे में कोई जनाधार है और न ही संगठन. कफील खान सपा में आते हैं तो निश्चित तौर पर उन्हें एक राजनीतिक मजबूत ताकत मिलेगी.

सरकार से डरकर हम चुप नहीं बैठेंगे

इस बीच डॉ. कफील खान ने कहा है कि हम बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविर आयोजित करने के लिए बिहार, असम, केरल, तमिलनाडु और कर्नाटक का दौरा करेंगे.

हम योगी सरकार से डर कर चुप नहीं बैठ सकते हैं, राजनीति में आने को लेकर अभी तो कई फैसला नहीं किया है. हालांकि, प्रियंका गांधी ने हमारी बहुत मदद की है.

कांग्रेस ने हमारी रिहाई के लिए बहुत संघर्ष किया है और सपा ने भी हमारे हक में आवाज उठाई. अखिलेश यादव ने रिहाई के लिए ट्वीट कर हमारी मदद की है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें