जयपुर के सीकर रोड पर नकली डीजल बनाने का भंडाफोड़

Smart News Team, Last updated: 26/08/2020 03:02 PM IST
  • सीकर रोड स्थित जैतपुरा क्षेत्र में रिफाइंड बनाने के लाइसेंस पर तैयार किया जाता था नकली डीजल, फैक्ट्री संचालक गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर 

जयपुर, 26 अगस्त: जयपुर के सीकर रोड स्थित जैतपुरा क्षेत्र में कमिश्नरेट की सीएसटी टीम ने सोमवार को काले ऑयल को रिफ़ाइन करने की एक फैक्ट्री में दबिश देकर नकली डीजल बनाने का भंडाफोड़ किया है. सीएसटी टीम ने फैक्ट्री संचालक जैतपुरा निवासी अर्जुन लाल यादव को गिरफ्तार कर 2700 लीटर नकली डीजल सहित करीब 10 हजार लीटर पेट्रोलियम पदार्थ भी जब्त किया है. जबकि रिफाइंड बनाने के लिए पर्यावरण विभाग से लिया गया लाइसेंस भी कुछ माह पहले एक्सपायर हो चुका है.

 

फैक्ट्री संचालक से पूछताछ के आधार पर पुलिस टीम ने विभिन्न जिलों में एक दर्जन स्थानों पर छापामारी की. कार्रवाई के दौरान रसद विभाग, बिक्री कर एवं जीएसटी विभाग की टीमें भी मौजूद रही। पुलिस ने फैक्ट्री सील कर दी है. पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि कुछ दिन पहले सीएसटी सदस्य पवन काजला व अनिल कुमार को सूचना मिली थी कि सीकर रोड पर कई लोग 55 से 60 रुपये प्रति लीटर डीजल बेच रहे हैं. सूचना मिलने के बाद एडिशनल एसपी सुलेश चौधरी, इंस्पेक्टर लखन खटाना व सुरेन्द्र यादव के नेतृत्व में गठित टीम ने सीकर रोड पर चौमू तक रेकी शुरू की. दो दिन पहले खुलासा हुआ कि जैतपुरा स्थित अर्जुन लाल की फैक्ट्री मां वैष्णो पेट्रो ल्यूब से नकली डीजल बनाया जाता था। फैक्ट्री संचालक ने खुलासा किया कि वह प्रदेश के कई जिलों में एक दर्जन प्लांट लगा चुका है.

जांच में पाया गया कि आरोपी बिना बिल के काला ऑयल मंगवाता है और क्ले मिट्टी के जरिए 400 से 500 डिग्री तक गर्म करने के बाद उसमें कैमिकल मिलाकर नकली डीजल तैयार करता है. प्लांट में एक दिन में 4 हजार लीटर तक नकली डीजल बनता है. आरोपी छोटे पैडलरों के जरिए इस डीजल को 50 रुपए प्रति लीटर ग्रामीण क्षेत्रों में सप्लाई करता है. इस संबंध में एडिशनल कमिश्नर अजय पाल लांबा का कहना है कि फैक्ट्री में घोर लापरवाही बरती जा रही थी. फैक्ट्री में कोई तकनीकी जानकार नहीं था. आबादी वाले क्षेत्र में संचालित इस फैक्ट्री में बॉयलर ब्लास्ट हो जाए तो एक किलोमीटर के दायरे में नुकसान पहुंच सकता है. उन्होंने कहा कि आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें