जयपुर : शिक्षा निदेशक के व्हाट्सएप ग्रुप पर देनी होगी शिक्षकों को उपस्थिति

Smart News Team, Last updated: Thu, 14th Jan 2021, 7:56 PM IST
  • जयपुर के संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि शिक्षकों की उपस्थिति रजिस्टर प्रतिदिन व्हाट्सएप पर मंगवाने की व्यवस्था करें. वहीं, राजस्थान शिक्षक संघ ने व्हाट्सएप पर उपस्थति देने के आदेश को निरस्त करने की मांग को लेकर प्रमुख शासन सचिव को ज्ञापन सौंपा है.
शिक्षा संकुल की फाइल फोटो

जयपुर. शिक्षा विभाग की ओर से स्कूल खोले जाने के लिए जारी एसओपी में शिक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वो अपनी उपस्थति व्हाट्सएप से दें. अब शिक्षकों को अपनी उपस्थति उस व्हाट्सएप ग्रुप पर देनी होगी, जिसमें शिक्षा निदेशक खुद जुड़े हुए हैं. पिछले दिनों संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि वह शिक्षकों का उपस्थिति रजिस्टर प्रतिदिन व्हाट्सएप पर मंगवाए जाने की व्यवस्था   सुनिश्चित करें. 

शिक्षा विभाग के इस निर्देश से शिक्षक आक्रोशित हैं. वहीं 18 जनवरी से स्कूल खोले जाने के निर्देश भी विभाग ने दिए हैं, लेकिन इस दौरान प्रार्थना सभा या अन्य कोई सामूहिक गतिविधि नहीं करवाते हुए अध्ययन-अध्यापन कार्य सम्पादित करवाया जाना है. वर्तमान में स्कूल समय 10 से 4 बजे तक का है, लेकिन गाइडलाइन के तहत इसे कक्षा 10 व 12 के लिए प्रात: 9.30 से 3.30 और कक्षा 9 व 11 के लिए प्रात: 10 से 4 तक किया गया है. इसको लेकर भी शिक्षक नाखुश हैं. राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) व्हाट्सएप पर उपस्थति देने के आदेश को निरस्त करने की मांग को लेकर प्रमुख शासन सचिव को ज्ञापन सौंपा है. प्रदेश महिला मंत्री अरुणा शर्मा और संगठन के प्रतिनिधिमंडल ने संभागीय आयुक्त द्वारा व्हाट्सएप पर प्रतिदिन उपस्थिति रजिस्टर की फोटो प्रति मांगे जाने को शिक्षकों का अपमान और शिक्षा विभाग के नियमों के विपरीत बताया है. 

जयपुर : आधार से लिंक होगा निजी कॉलेज और यूनिवर्सिटी के शिक्षकों का डाटा

प्रमुख शासन सचिव को दिए ज्ञापन में कहा गया कि विभाग में पहले से ही शिक्षकों की उपस्थिति ऑनलाइन चल रही है. उस पर संभागीय आयुक्त के ऐसे आदेश जारी करना सामंतशाही प्रवृत्ति का प्रतीक है. वहीं प्रदेश संगठन मंत्री प्रहलाद शर्मा ने कहा कि विभाग नित नए आदेश जारी कर शिक्षकों को परेशान कर रहा है. संगठन ऐसे मनमाने आदेश निकालने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाने की मांग करता है. साथ ही समय परिवर्तन के आदेश में तत्काल संशोधन करने और व्हाट्सएप पर उपस्थिति मांगने के संभागीय आयुक्त के आदेश को तत्काल निरस्त करवाकर शिक्षकों को राहत प्रदान करने की मांग करता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें