अब गांवों का भी बनेगा मास्टर प्लान, पहले चरण में जयपुर के भी गांव होंगे शामिल

Smart News Team, Last updated: Wed, 12th May 2021, 8:16 PM IST
  • शहरों की तर्ज पर अब गांवों का भी मास्टर प्लान तैयार होगा. आगामी 30 वर्षों को ध्यान में रखकर यह प्लान तैयार किया जाएगा. पहले चरण में जयपुर सहित राज्य के अन्य जिलो के 10 हजार से अधिक आबादी वाले 120 गांवों को इसमें शामिल किया जाएगा.
प्रतिकात्मक तस्वीर

जयपुर. शहरों की तरह अब गांवों का भी मास्टर प्लान बनेगा. इससे गांवों में सुनियोजित विकास में मदद मिलेगी. प्रथम चरण में 10 हजार से अधिक आबादी वाले 120 गांवो के लिए मास्टर प्लान तैयार होगा. माना जा रहा है कि इसमें जयपुर के भी कई गांव शामिल होंगे. मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने आज सचिवलाय में गांवों के मास्टर प्लान को लेकर पंचायती राज विभाग की बैठक ली. बैठक में मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि पंचायती राज विभाग, राजस्व विभाग के साथ जमीन संबधी मामले और नगर नियोजन विभाग से साथ नियोजन संबंधी तकनीकी मामलों में समन्वय  कर पहले चरण के गांवों का शीघ्र मास्टर प्लान तैयार करें.

बैठक में पंचायती राज विभाग की शासन सचिव मंजू राजपाल ने बताया कि  उक्त गांवों में आगामी 30 वर्ष की अवश्यकता के आधार पर कल्याणकारी योजनाओं को पूरा करने के लिए सुनियोजित विकास हेतु स्थान व भूमि चिह्वित की जाएगी. प्रदेश में करीब 45 हजार राजस्व गांव हैं. मास्टर प्लान में हर गांव में मौजूद नदी, नाले, पहाड़, तालाब और आबादी क्षेत्र को चिह्वित कर गांव का नक्शा तैयार किया जाएगा. इस नक्शे में गांव में मौजूद सुविधाओं जैसे अस्पताल, स्कूल, कॉलेज, सामुदायिक केंद्र, पशु कल्याण केंद्र, कब्रिस्तान, श्मशान, बस अड्डा, बाजार,तथा मंडी आदि को भी चिह्वित किया जाएगा.

जयपुर में कोविड मरीज के डिस्चार्ज होने पर अटेंडेंट का भी होगा आरटीपीसीआर टेस्ट

बैठक में वीसी के माध्यम से प्रमुख शासन सचिव राजस्व आनंद कुमार, विशिष्ट शासन सचिव वित्त नरेश ठकराल, सैटलमेंट आयुक्त महेन्द्र पारेख, मुख्य नगर नियोजक आर के विजयवर्गीय,  निदेशक, पंचायती राज डॉ घनश्याम और अधीक्षण अभियंता मुकेश माहेश्वरी भी मौजूद रहे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें