महिला ने बच्ची का रखा इतना लंबा नाम कि दो फीट लंबा बन गया बर्थ सर्टिफिकेट

Atul Gupta, Last updated: Mon, 3rd Jan 2022, 3:56 PM IST
  • कुछ लोग अक्सर अपने पूर्वजों के नाम को अपने नाम के साथ लगा लेते हैं जिससे नाम लंबा हो जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं दुनिया में सबसे लंबा नाम किसका है और क्या है? दावा है कि आप एक सांस में ये नाम नहीं पढ़ पाएंगे.
सबसे लंबे नाम वाले बर्थ सर्टिफिेट के साथ महिला (फोटो- सोशल मीडिया)

जयपुर: अक्सर कई लोग अपने नाम के साथ अपने माता-पिता या दादा-दादी के नाम के साथ रख लेते हैं जिससे उनका नाम बड़ा हो जाता है. साउथ इंडिया में खास तौर पर इस तरह के नाम रखने का प्रचलन है जहां लोग अपने साथ-साथ अपने पूर्वजों का भी नाम रखते हैं जिससे उनका नाम सामान्य से थोड़ा लंबा हो जाता है. लेकिन क्या आपने सोचा है कि दुनिया का सबसे लंबा नाम क्या हो सकता है? किसने दुनिया का सबसे लंबा नाम रखा होगा और वो नाम क्या होगा? क्या वो नाम आप एक सांस में पढ़ पाएंगे? आपको बता दें कि दुनिया में सबसे लंबा नाम रखने का भी गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज है और वो नाम है'Rhoshandiatellyneshiaunneveshenk Koyaanisquatsiuth Williams'.

सेंडा विलियम्स नाम की एक महिला ने 1984 में अपनी बेटी का इतना लंबा नाम रखा था जो बाद में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में सबसे लंबे नाम के तौर पर दर्ज है. दरअसल सांड्रा विलियम्स ने 12 सितंबर 1984 को एक बेटी को जन्म दिया. जन्म के तीन हफ्ते बाद सांड्रा और उनके पति ने संबंधित विभाग में अपनी बेटी का नाम डालने का आवेदन दिया जिसे पढ़कर हर कोई दंग रह गया. इस नाम में 1019 लेटर्स थे और इसके मिडिल नाम में ही 36 लेटर थे. प्रशासन की तरफ से जब बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र बनकर आया तो वो 2 फुट लंबा था. Rhoshandiatellyneshiaunneveshenk Koyaanisquatsiuth. लोग इतना बड़ा नाम बोल नहीं पाते थे तो उन्होंने छोटा नाम रखा जेमी. इस नाम ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में अपना नाम दर्ज किया.

सुहागरात के दूसरे दिन दुल्हन हो गई 5 महीने की प्रेग्नेंट, दो भ्रूण की हुई पुष्टि

सैंड्रा के मुताबिक जब वो 12 साल की थीं तभी उन्होंने सोच लिया था कि वो कुछ ऐसा करेंगी जिससे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड बनता हो. इसलिए उन्होंने सोचा कि बेटी का नाम इतना अलग रखूं कि किसी का ऐसा नाम ना हो. बहरहाल रिकार्ड बन गया लेकिन प्रशासन के पसीने छूट गए. इसके बाद स्टेट ऑफ टेक्सस ने कानून बना दिया कि बच्चे का नाम इतना ही बड़ा होना चाहिए जितना बर्थ सर्टिफिकेट बनाने के लिए फॉर्म में फिट बैठ सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें