युवाओं में टीके के लिए भारी उत्साह, लेकिन जयपुर में पड़ रहा वैक्सीन का ही टोटा

Smart News Team, Last updated: Sun, 9th May 2021, 1:00 PM IST
  • तीसरे चरण के तहत 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी युवाओं का वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। लेकिन, जयपुर में टीकों की कमी के कारण अभी तक ग्रामीण क्षेत्रों में तो कैंप ही नहीं लगाए गए है। केवल शहरी इलाकों में कैंप लगाए जा रहे हैं। यहां भी शनिवार को केवल 7561 युवाओं को ही टीके लगे.
प्रतिकात्मक तस्वीर

देशभर में 18 से 44 वर्ष के युवाओं के लिए तीसरे चरण का कोविड वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है . कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए युवाओं में टीकों के लिए भारी उत्साह है . लेकिन, इसके बावजूद जयपुर समेत अन्य शहरों में टीकों की कमी नजर आ रही है . यही कारण है कि अब तक बहुत कम युवाओं को पहले चरण का कोविड वैक्सीनेशन हुआ है . बता दें कि राजस्थान को अभी तक पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन नहीं मिले है . इसके कारण कुछ ही जिलों में 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं के लिए वैक्सीनेशन शुरू किया गया है .

बड़ी बात यह है कि राजस्थान के ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है . जयपुर के आसपास के ग्रामीण इलाकों में भी कोविड पॉजिटिव बड़ी संख्या में मिल रहे हैं . इसके बावजूद सरकार ने जयपुर के ग्रामीण इलाकों में अभी तक कोविड टीकाकरण के लिए केंद्र नहीं बनाया है . बस्सी इलाके के बाढ़ चारणवास गांव निवासी चार्टर्ड अकाउंटेंट दीपक चारण ने कहा कि सरकार को ग्रामीण इलाकों में जल्द से जल्द वैक्सीन कैंप लगाने चाहिए। ताकि यहां भी युवाओं को वैक्सीनेशन का लाभ मिल सके .

जयपुर में कोरोना मरीज को आईसीयू बेड बेचने वाला दलाल नर्सिंगकर्मी गिरफ्तार

इंजीनियर नवनीत सिंह ने बताया कि जयपुर में रोज रात को कोविन पोर्टल से स्लॉट बुक कराने का प्रयास कर रहा हूँ . लेकिन, करीब दो घंटे तक इंतजार के बावजूद भी स्लॉट बुक नहीं हो रहा है . सेशन साइट पर स्लॉट ओपन होने के एक मिनट में ही बुक दिखा दिया जाता है . ऐसे में जो युवा टीका लगवाना चाहते हैं, उन्हें मायूस होना पड़ रहा है .

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें