Surya Grahan 2021: सूर्य ग्रहण से क्या है राहु केतू का संबंध, जानिए पौराणिक कथा

Pallawi Kumari, Last updated: Tue, 23rd Nov 2021, 3:15 PM IST
  • साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर को लगने जा रहा है. सूर्य और चंद्र दोनों ही ग्रहण में एक पौराणिक कथा प्रचलित है. इसके मुताबिक ग्रहण का संबंध राहु केतू से है. आइये जानते हैं राहु केतू की पौराणिक कथा के बारे में.
सूर्य ग्रहण राहु केतू कथा

साल 2021 का दूसरा और आखिरी सूर्य ग्रहण शनिवार 4 दिसंबर को लगने वाला है. इससे पहले 19 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगा था. चंद्र ग्रहण के 15 दिन बाद ही सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है. धार्मिक और वैज्ञानिक दोनें ही दृष्टिकोण से ग्रहण का काफी महत्व होता है. धार्मिक कारणों में ग्रहण को अशुभ माना जाता है. मान्यता है कि ग्रहण के दौरान भगवान कष्ट में होते हैं. इसलिए ग्रहण मे भगवान की पूजा नहीं की जाती है. वहीं वैज्ञानिक के अनुसार ग्रहण को खगोलीय घटना माना जाता है. लेकिन पौराणिक कथा के अनुसार ग्रहण का संबंध राहु केतू से है. इसकी एक कथा भी है जो काफी प्रचलित है. 

राहु केतू की पौराणिक कथा

कहा जाता है कि समुद्र मंथन के दौरान अमृत के लिए जब देवों और दानवों के बीच विवाद हुआ तब विष्णु जी ने दानवों को भ्रमित करने के लिए मोहनी रूप धारण किया. उन्होंने देवताओं और असुरों को अलग-अलग बिठा कर अमृत पान कराने की बात कही. पहले उन्होंने देवताओं को पंक्ति में बिठातक अमृत पान कराना शुरू किया. लेकिन एक असुर को विष्णु जी के छल का पता चल गया और वह देवताओं की पंक्ति में जाकर बैठ गया.

Lunar Eclipse: चंद्र ग्रहण खत्म होने के बाद करें ये काम, बुरे प्रभाव का नहीं होगा असर

इसी पंक्ति में चंद्रमा और सूर्य भी बैठे थे. उन्होंने उस असुर को ऐसा करते देख लिया और इस बात की जानकारी भगवान विष्णु को दी. यह सुन भगवान विष्णु ने अपने सुदर्शन चक्र से असुर का सिर धड़ से अलग कर दिया. लेकिन उसकी मृ्तु नहीं हुई क्योंक तबत क वह अमृत की कुछ बंदे पी चुका था.

विष्णु जी से सुदर्शन च्रक से जिस असुर का सिर धड़ से अलग किया था उस सिर वाले भाग को राहु और धड़ वाले भाग को केतु के नाम से जाना गया. इस घटना के बाद राहु और केतु ने सूर्य और चंद्रमा को अपना शत्रु मान लिया. धार्मिक मान्यता के अनुसार, राहु और केतु के कारण ही चंद्रग्रहण और सूर्य ग्रहण की घटना घटती है.

Surya Grahan 2021: इस दिन लगेगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें डेट और प्रभाव

अन्य खबरें