यूपी की ये मशहूर 145 साल पुरानी इमारत जल्द होगी बंद, जानें लाल इमली की खासियत

Smart News Team, Last updated: Tue, 6th Apr 2021, 2:19 PM IST
  • कानपुर की मशहूर इमारत लाल इमली मिल को ब्रिटिश इंडिया कॉरपोरेशन ने बंद करने का फैसला किया है. इमारत को 1876 में बनाया गया था. 1990 से नुकसान होने के बाद 1992 में इमारत को बिमार घोषित कर दिया था. जबकि नीति आयोग ने 2017 में इससे बंद करने का फैसला किया.
कानपुर का लाल इमली मिल. ( फाइल फोटो )

कानपुर: कानपुर की 145 साल पुरानी लाल इमली मिल को जल्द ही बंद करने का फैसला किया गया है. ब्रिटिश इंडिया कॉरपोरेशन के चेयरमैन बलराम कुमार ने वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए लाल इमली के अफसरों को अपना कार्य 20 अप्रैल समाप्त करने के लिए कहा है. इसके बाद कभी भी मिल को बंद किया जा सकता है. बीआइसी चेयरमैन ने लाल इमली मिल मुख्यालय के अफसरों और विभागाध्यक्षों को समय से कार्य खत्म करके रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया है. रिपोर्ट के आधार पर ही सेवानिवृत्ति कर्मचारियों का भत्ता मिल सकेगा. बता दें कि मिल की हालत को देखते हुए 2017 में नीति आयोग ने इससे बंद करने का फैसला किया था.

चेयरमैन ने बताया, कि मिल को बंद होने के बाद 2017 से इंटर मिनिस्ट्रियल कमेंट्स प्रक्रिया चल रही है. विभाग द्वारा बाकी की कार्रवाई की जा रही है. जन प्रतिनिधियों ने लाल इमली कर्मचारियों व अधिकारियों के बकाया भुगतान की बात वस्त्र मंत्रालय तक पहुंचा दी है. मंत्रालय को 550 कर्मचारियों व अधिकारियों के एरियर, लीव इनकैशमेंट व करीब तीन साल के वेतन के एवज में 60 करोड़ रुपये का भुगतान करना होगा.

बुजुर्गों की परेशानियों का समाधान करेगा एक फोन कॉल, हेल्पलाइन होगी शुरू

सोमवार को संघ पदाधिकारियों व श्रमिकों के बीच बैठक हुए. बैठक में श्रमिकों ने 33 महीने का वेतन को जल्द देने की मांग की. संघ के अध्यक्ष अजय ने कहा कि 2017 से रह रहे कर्मचारियों से आवास खाली कराने का पर विरोध होगा. उन्हें अधिकारियों से मांग की है जब तक श्रमिकों का वेतन नहीं मिल जाता, तब तक उन्हें यही रहने दिया जाएं.

घर बनाना पड़ेगा और महंगा, सरिया, सीमेंट और बालू की कीमत छू रही आसमान

लाल इमली का इतिहास

लाल इमली की स्थापना 1876 में हुई थी. जिसके बाद यह लगातार चलती रही. 1981 में मिल का सरकारी अधिग्रहण हुआ. जबकि 1990 से इसमें नुकसान होना शुरु हो गया था. 1992 में सरकार ने इसे बीमार मिल घोषित कर दिया. 2017 में नीति आयोग ने इसे बंद करने का फैसला किया.

UP में बनेंगी वर्ल्ड की लेटेस्ट ब्लास्ट प्रूफ गाड़ी, सेना का भी ऑर्डर, जानें कीमत

यूपी में राम वन गमन मार्ग बनाने की तैयारी में सरकार, जानें क्या है खासियत

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें