8 करोड़ रुपए के सिक्के हुए डंप, कई कारोबारियों की पूंजी फंसी

Smart News Team, Last updated: 06/12/2020 08:03 PM IST
  • कानपुर में 8 करोड़ के सिक्के डंप होने के कारण वहां के बड़े से लेकर छोटे उद्यमियों की पूंजी फस गई है. इन सिक्को को न तो बैंक लेता है और न ही डिस्ट्रीब्यूटर लेते है.
आरबीआई के 8 करोड़ के सिक्के हुए डंप

कानपुर. सिक्को की समस्या ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रही है. हाल ही में एफएमसीजी उत्पाद से जुड़े छोटे उद्यमियों के पास 8 करोड़ के सिक्के ही डंप हो गए. उन सिक्को से ही छोटे उद्यमियों और दुकानदारों की कमाई होती है. इस सिक्को को न तो बैंक जमा करता है और ना ही डिस्ट्रीब्यूटर इसे लेते है ऐसे में इतनी बड़ी रकम डंप हो गई. इन सिक्को के निवारण के लिए रिजर्व बैंक से लेकर वित्त मंत्रालय तक गुहार लगाई जा चुकी है, लेकिन उनकी तरफ से भी अभी तक कोई निदान नहीं निकाला जा सका है.

योगी के मंत्रिमण्डल में होगा विस्तार, 6 से 7 नए होंगे शामिल कुछ की होगी विदाई

पुरे देश भर में ब्रेड, नमकीन, साबुन के दाम अधिकतर एक रुपए से लेकर 30 रुपए तक है. जिनकी खरीदारी अधिकतर सिक्को के द्वारा ही होती है. पुरे देश में रोज का उत्पादन और बिक्री का कारोबार इन्ही सिक्को से चलता है. छोटे स्तर के व्यापारियों का इन सिक्को के बारे में कहना है कि वह सामान सिक्को से तो बेच देते है लेकिन जब उन्ही सिक्को को लेकर उद्यमियों के पास जाते है तो वह सिक्के लेने से मना कर देते है. साथ ही इन सिक्को को बैंक भी जमा नहीं करता है. तो हमे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

महाकाल मंदिर के गार्ड समेत इन 6 लोगों को मिलेगा विकास दुबे पर घोषित 5 लाख का ईनाम

सिक्को का खौफ बराज में इस तरह छा गया है कि पहली बार जारी हुए 20 रुपए के सिक्के लेने से लोग अभी से परहेज करने लगे है. सभी जगह 20 के सिक्के पहुंच गए है लेकिन बहुत कम कारोबारी ही इन सिक्को को ले रहे है. आईआईए कानपुर चैप्टर के चेयरमैन जय हेमराजानी का कहना है कि बैंक में एक हजार सिक्के लेना का नियम है, फिर भी ये रकम कारोबारियों के लिए काफी छोटी है. जिसके चलते कई उद्यमियों के पास एक बड़ी रकम के रूप में सिक्के डंप है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें