कानपुर में बढ़ी ऑक्सीजन की किल्लत, प्रशासन हुआ लाचार

Smart News Team, Last updated: Mon, 19th Apr 2021, 10:42 AM IST
  • कानपुर में ऑक्सीजन की कमी होने पर प्रशासन ने राउरकेला से 19 टन ऑक्सीजन मंगाई. जो रविवार देर रात भरी फोर्स की सुरक्षा में कानपुर पहुंचा.
कानपुर में बढ़ी ऑक्सीजन की किल्लत, प्रशासन हुआ लाचार

कानपुर. जैसे जैसे कोरोना अपने पैर पसार रहा है वैसे वैसे मेडिकल सुविधाओं की किल्लत बढ़ती जा रही है. जिसमे सबसे ज्यादा किल्लत ऑक्सीजन को लेकर देखने को मिल रही है. ऑक्सीजन की किल्लत इतनी बढ़ गई है की सरकारी तो छोड़िए निजी अस्पतालों में भी मरीजों को समय से ऑक्सीजन मुहैया नहीं कराया जा पा रहा है. वही इसकी मांग इतनी बढ़ गई है कानपुर प्रशासन को दूसरे जिलों से ऑक्सीजन मांगना पड़ रहा है. वही बीती रात राउरकेला से 19 टन ऑक्सीजन की खेप कानपुर भारी सुरक्षा में पहुची है. 

कानपुर में ऑक्सीजन की इतनी किल्लत बढ़ गई कि नर्सिंग होम और निजी अस्पताल जल्दी मरीजों को भर्ती करने से मना करने लगे है. जिसे लेकर लोग कोरोना कंट्रोल रूम पर कॉल करके शिकायत भी आने लगी है. जिसको लेकर प्रशासन के हाथ पांव फूलने लगें है. जानकारी के अनुसार कानपुर में कारोब 15 से 20 टन ऑक्सीजन की खपत होती है, लेकिन कोरोना संक्रमण के मरीजों के बढ़ने से ये अकड़ा 40 टन तक पहुच गया गया है. जिसे पूरा करने में प्रशासन को बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. 

देशभर में कोरोना मरीजों की जान बचाएगी ऑक्सीजन एक्सप्रेस, ग्रीन कॉरिडोर की तैयारी

वही ऑक्सीजन की कमी के चलते जब नर्सिंगहोम और निजी अस्पताल कोरोना मरीजों को भर्ती करने से मना कर दे रहे है तब कोविड अस्पतालों के सामने इनकी लम्बी कतार लगने लगी है. वही ऑक्सीजन के साथ ही ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी का संकट भी प्रसाशन के सामने गहराता चला जा रहा है. अगर ऑक्सीजन का इंतेजाम हो भी जा रहा है तो उसे भरने के लिए सिलिंडर नहीं मिल रहा है. जिसको लेकर मंडलायुक्त डॉ राजशेखर ने शासन को पत्र भी लिखा हैं. साथ ही उन्होंने रविवार को इसको लेकर स्वास्थ्य अधिकारियों, नर्सिंगहोम और निजी अस्पतालों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक भी किया.

CM योगी का जनता को आश्वासन, अस्पतालों में नहीं होने देंगे ऑक्सिजन की कमी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें