कानपुर: मरीज को मरता छोड़कर दिवाली मनाने चले गए डॉक्टर साहब, FIR

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 5th Nov 2021, 6:15 PM IST
  • कानपुर के प्राइवेट नर्सिंग होम में एक मरीज की मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने इसक जिम्मेदार अस्पताल संचालक और डॉक्टर को लगाया. परिजनों ने आरोप लगाया कि महिला का ऑपरेशन करके डॉक्टर दिवाली की पूजा करने का कहकर चले गए. इस दौरान मरीज की हालत बिगड़ गई. 
कानपुर: मरीज को मरता छोड़कर दिवाली मनाने चले गए डॉक्टर साहब, FIR

कानपुर. शहर के आभा नर्सिंग होम में दिवाली की देर रात एक महिला मरीज की ऑपरेशन के बाद मौत हो गई. बर्रा निवासी रामबाबू की पत्नी मुन्नी देवी का तिल्ली के ऑपरेशन के बाद डॉक्टर पीयूष मिश्रा और अस्पताल संचालक अभिनव सेंगर दिवाली पूजा करने का कहकर चले गए. इस दौरान महिला की हालत बिगड़ने के बाद तीमारदारों ने डॉक्टरों को कई फोन लगाए, लेकिन डॉक्टर नहीं आए. जिससे चलते मरीज की मौत हो गई.

मरीज की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया. मौके पर पहुंची पुलिस ने तीमारदारों की शिकायत पर डॉक्टर पीयूष मिश्रा और अभिनव सेंगर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

UP Board Exam: बोर्ड ने कक्षा 9 में शामिल किए वस्तुनिष्ठ प्रश्न, एक एक अंक के 20 क्वेश्चन होंगे

डॉक्टर साहब मेरी पत्नी की जान बचा लीजिए

मृतका के पति रामबाबू का आरोप है कि गैस्ट्रोलॉजिस्ट डॉ. पीयूष मिश्रा ने पत्नी मुन्नी देवी का ऑपरेशन किया. ऑपरेशन के बाद डॉक्टर पीयूष और अस्पताल संचालक अभिनव सेंगर दिवाली की पूजा की बात कहकर चले गए. इसी बीच पत्नी की हालत बिगड़ने लगी. जिसके बाद पीयूष और अभिनव सेंगर को कई बार फोन करके कहा कि डॉक्टर साहब मेरी पत्नी की जान बचा लीजिए, लेकिन उन्होंने दिवाली की पूजा के नाम पर आने से इंकार कर दिया. जिसके बाद पत्नी की सुबह मौत हो गई.

कानपुर में जीका वायरस का प्रकोप, 30 नए मरीजों की पुष्टि

2 घंटे किया हंगामा, मामला दर्ज

इस संबंध में ग्वालटोली थाना प्रभारी केके दीक्षित ने बताया कि करीब 2 घंटे तक शव रखकर तीमारदारों ने हंगामा किया. मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स और एसीपी कर्नलगंज त्रिपुरारी पांडेय ने तीमारदारों से बात कर मामला शांत कराया. जिसके बाद तीमारदारों की तहरीर पर डॉ. पीयूष मिश्रा और नर्सिंग होम संचालक अभिनव सेंगर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया जाएगा. जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें