कमिश्नरेट प्रणाली लागू होने के बाद ट्रैफिक व्यवस्था दुरुस्त करने की कवायद शुरू

Smart News Team, Last updated: Sat, 3rd Apr 2021, 5:15 PM IST
  • कानपुर में ट्रैफिक पुलिस की ओर से शहर में लगने वाले जाम से जनता को राहत मिलेगी. पुलिस उपायुक्त यातायात ने प्रेस मीट में जानकारी दी कि बाइक राइडर्स पुलिस की क्विक रिस्पांस टीम बनाई गई है, जो लगातार सभी प्रमुख चौराहों पर गश्त करके यातायात में आ रही समस्याओं को दूर करेगी.
एस मूर्थी पुलिस उपायुक्त यातायात जानकारी देते हुए

कानपुर. कानपुर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होने के बाद अब ट्रैफिक कंट्रोल पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. कानपुर के प्रमुख चौराहों पर जनता को जाम से निजात दिलाने के लिए रणनीति बनाई जा रही है. पुलिस उपायुक्त यातायात ने प्रेस मीट में जानकारी दी कि जल्द ही कानपुर के ट्रैफिक को दुरुस्त कर लिया जाएगा. औद्योगिक नगरी कानपुर में यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए आईटीएमएस सिस्टम के जरिए ट्रैफिक कंट्रोल किया जा रहा था, लेकिन कई चौराहों पर सिग्नल लाइट खराब होने के चलते जाम की समस्या उत्पन्न हो रही है.

जिससे जनता को जाम से जूझना पड़ रहा है. इस समस्या को देखते हुए अब चौराहों पर लगी ट्रैफिक लाइटों को दुरुस्त किया जाएगा. इस बार बाइक राइडर्स पुलिस की क्विक रिस्पांस टीम बनाई गई है, जो लगातार सभी प्रमुख चौराहो पर गश्त करके यातायात में आ रही समस्याओं को दूर करेगी. पुलिस उपायुक्त यातायात का कहना है कि इन कॉरिडोर के सभी ट्रैफिक सिग्नल को ठीक किया गया है, और इनकी टाइमिंग को भी सही किया गया है. अगर ट्रैफिक कॉरिडोर में कोई अनावश्यक वाहन पार्क किए जाते हैं तो उसके विरुद्ध कार्रवाई करने के लिए क्रेन लगाई जाएगी, पूरे कॉरिडोर को व्यवस्थित करने के लिए एक इंटरसेप्टर लगातार भ्रमणशील रहेगी और यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी.

कानपुर कार्डिओलॉजी में 3 दिन में 3 बार आगजनी, अब देर रात 3 बजे 2 कमरों में आग

कानपुर महानगर की सबसे प्रमुख समस्या रेलवे फाटक को लेकर होती है. जरीब चौकी चौराहे से लेकर कल्याणपुर तक शहर के बीचो-बीच से निकली रेलवे लाइन पर ट्रेन आने से पहले जब फाटक बंद होता है. तब वाहन चालक ट्रैफिक रूल तोड़ते हुए विपरीत दिशा में आ जाते है. ट्रेन गुजरने के बाद जब फाटक खुलता है, तब लंबा जाम लग जाता है. पुलिस उपायुक्त यातायात एस मूर्थी को जब इससे अवगत कराया गया तो उन्होंने बताया कि इस समस्या के लिए डिवाइडर बनवाकर ट्रैफिक कंट्रोल किया जाएगा. पुलिस उपायुक्त यातायात का कहना है कि इसमें चौदह रेलवे क्रासिंग पड़ती हैं. रेलवे फाटक खुलने के बाद लोग आमने-सामने आ जाते हैं, जिसकी वजह से जाम लगता है. इस समस्या को दूर करने के लिए लंबा डिवाइडर बनाया जाएगा, जिससे लोग अपनी लेन में ही रहें, उनका कहना है कि अगर इसके बाद भी लोग ट्रैफिक रूल्स तोड़ेंगे तो उनके खिलाफ कार्यवाही निश्चित की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें