कोरोना के बीच पुलिस के बड़े अफसर एक डॉक्टर की वाहवाही करते नहीं थक रहे, जानें

Smart News Team, Last updated: Sat, 10th Apr 2021, 8:36 PM IST
  • होम्योपैथिक दवा ईजाद करने वाले डॉ. हैनिमेन की याद में कानपुर के आरोग्यधाम में 266वां विश्व होम्योपैथिक दिवस मनाया गया.आईजी मोहित अग्रवाल ने होम्योपैथी डॉ. हेमंत की तारीफ की और कहा उनकी दवा रामबाण साबित हो रही है.
कानपुर के आरोग्यधाम में मनाए गए 266वां विश्व होम्योपैथिक दिवस में आईजी मोहित अग्रवाल पहुंचे

कानपुर. कानपुर में एक तरफ कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं, तो दूसरी तरफ एक  होम्योपैथिक डॉक्टर के इलाज को लेकर पुलिस अधिकारी भी उनकी वाह-वाही करने लगे. कानपुर के वह होम्योपैथिक डॉक्टर हैं हेमंत मोहन, जिनकी दवा कोरोना मरीजों पर रामबाण साबित हो रही है. खुद कानपुर आईजी ने शनिवार को इस बात को स्वीकार किया कि डॉक्टर हेमंत की दवा से उनके बहुत से पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से ठीक हुए हैं. 

होम्योपैथिक दवा ईजाद करने वाले डॉ. हैनिमेन की याद में कानपुर के आरोग्यधाम में 266वां विश्व होम्योपैथिक दिवस मनाया गया. आईजी मोहित अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित करने के बाद केक काटकर इस दिवस को मनाया. विश्व होम्योपैथिक दिवस पर आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि जैसे-जैसे कोरोना बढ़ रहा है, उसको देखते हुए एहतियात बरतने की जरूरत है. इस बीमारी में शरीर की पावर बढ़ाने की जरूरत होती है, जिसको होम्योपैथिक दवा पूरा करती है.

बैंक ने अगर गंदे और कटे फटे नोट लेने से किया इंकार तो अब खैर नहीं, RBI लगाएगा जुर्माना

उन्होंने कहा कि पिछले कोरोना के समय में आरोग्यधाम की तरफ से पुलिस कर्मियों के साथ-साथ काफी लोगों को नि:शुल्क होम्योपैथिक दवा दी गई थी. इनकी दवा कानपुर के अलावा पूरे देश में लोगों को उपलब्ध कराई गई थी. अब एक बार फिर से कोरोना बढ़ रहा है, इसलिए अगर हम अन्य दवाओं के साथ होम्योपैथिक दवा लेंगे तो इसके परिणाम अच्छे आएंगे. आईजी ने जनता से अपील की कि सभी लोग कोविड गाइडलाइन का पालन करें, जिससे एक बार फिर से इसको मात दी जा सके.

कानपुर में बोले शिवपाल यादव- किसान, नौजवान और मुसलमान की विरोधी है भाजपा

कोरोना काल में अपनी अहम भूमिका निभाने वाले आरोग्यधाम की डॉ. आरती मोहन व हेमंत मोहन का कहना है कि इस बार कोरोना के जो केस आ रहे हैं, उनमे सिंपटम्स बहुत ज्यादा हैं. जिसमें कोरोना के सिंपटम्स के साथ-साथ डेंगू और टॉयफाइड भी देखने को मिल रहा है. ऐसे मरीज डॉक्टर से मिले बगैर दवा ले रहे हैं. जिसकी वजह से उनको काफी परेशानी हो रही है. उनका कहना है कि जो मरीज कोरोना से ग्रसित हैं, वो केवल डॉक्टर की सलाह लें। इसमें होम्योपैथिक दवा काफी कारगार है. डाक्टरों का यह भी कहना है कि होम्योपैथिक दवा पूरी तरह से कारगर है, जिसकी वजह से यह शरीर को रोगों से लड़ने के क्षमता मजबूत करती है. इसलिए होम्योपैथिक दवा का सेवन करें. जिससे कोरोना से बचाव हो सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें