कानपुर में आयुष्मान मरीज संकट में, 44 लाख बकाए पर एजेंसी ने बंद की दवा सप्लाई

Smart News Team, Last updated: Tue, 29th Sep 2020, 9:33 AM IST
  • कानपुर के हैलेट हॉस्पिटल में दवा एजेंसी को भुगतान नहीं होने के कारण आयुष्मान भारत मरीजों के दवा को लेकर संकट खड़ा हो गया है. एजेंसी ने बकाया 44 लाख भुगतान नहीं करने पर मरीजों को दवा की सप्लाई ही बंद कर दी है.
कानपुर में आयुष्मान मरीज संकट में, 44 लाख बकाए पर एजेंसी ने बंद की दवा सप्लाई

कानपुर. कानपुर के हैलेट हॉस्पिटल में आयुष्मान योजना के तहत मरीजों पर संकट खड़ा हो गया है. दरअसल 44 लाख का पुराना बिल भुगतान नहीं होने से दवा एजेंसी ने दवा सप्लाई बंद कर दी है. इससे भर्ती मरीजों को दवाएं नहीं मिल पा रही हैं. साथ ही सर्जरी और इंप्लांट के सर्जिकल सामानों की सप्लाई भी बंद हो गई है. जिससे आयुष्मान के 30 से ज्यादा मरीजों की सर्जरी फंस गई है. इस बीच डाक्टरों ने बाकि के 1500 मरीजों  के बिलों के फाइल का सत्यापन करने से मना कर दिया है. इससे संकट और बढ़ने की आशंका है.

हैलेट में फिलहाल आयुष्मान के कुल नौ मरीज भर्ती हैं. दो महीने से करीब 80 से 90 मरीज हर महीने इलाज के लिए पहुंच रहे हैं. भर्ती मरीजों की दवाएं, इंप्लांट औ सर्जरी से सामानों के सप्लाई की जिम्मेदारी अमृत फार्मा को मिली है. लेकिन अब एजेंसी ने 44 लाख बकाए की बात कह कर आयुष्मान के आउटडोर और भर्ती मरीजों के दवा और दूसरे सामानों की सप्लाई बंद कर दी है. पिछले चार दिनों से एजेंसी किसी भी मरीज को दवा नहीं दे रही है.  

IIT कानपुर की पूर्व छात्रा और प्रोफेसर को शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार

हैलेट अस्पताल प्रशासन ने भुगतान का आश्वासन दिया है. उधर हैलेट में भर्ती आयुष्मान मरीजों को खुद के पैसों से दवा खरीदनी पड़ रही है. वार्ड 15 में एक मरीज को दवा नहीं मिली तो रिश्तेदार ने प्रमुख सचिव आलोक कुमार से उनके दौरे पर शिकायत की. इस पर हैलेट प्रशासन ने अपने पास से 10 हजार की दवा खरीद कर उपलब्ध कराई. लेकिन एजेंसी ने दवा की सप्लाई नहीं की.

यूपी पॉलीटक्निक प्रवेश परीक्षा का परिणाम जारी, कानपुर के आदर्श ग्रुप डी के टॉपर

इस मामले में जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर प्रो.आरबी कमल का कहना है कि पांच सदस्यीय जांच कमेटी बना दी गई है. कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद एक्शन लिया जाएगा. इस मामले में प्रो.रिचा गिरि का कहना है कि एजेन्सी ने पुराने 44 लाख बकाए के चलते आयुष्मान रोगियों को दवा की सप्लाई रोक दी है. बकाया पुराना है इसलिए सत्यापन कराना मुश्किल हो रहा है. एजेन्सी से बात की जा रही है.

 

-

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें