बिकरू कांड़ का मुख्य आरोपी विकास दुबे के खजांची जय बाजपेयी पर एक और मुकदमा दर्ज

Smart News Team, Last updated: Sat, 21st Nov 2020, 5:20 PM IST
  • बिकरू काण्ड में जांच कर रही एसआईटी टीम की रिपोर्ट के बाद जहां थाना चौबेपुर में फर्जी शपथ पत्र लगा शस्त्र लाइसेंस व फर्जी आईडी पर सिम कार्ड लेने के आरोप में 18 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है तो वही कानपुर के बजरिया में विकास दुबे के खजांची जयकांत बाजपेयी के ऊपर भी एक और मुकदमा दर्ज हुआ है.
जय बाजपेयी के ऊपर एक और मुकदमा दर्ज

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में बिकरू कांड़ का मुख्य आरोपी विकास दुबे के खजांची जयकांत बाजपेयी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं है ले रही है.जहांं पहले से ही अपराधी विकास दुबे के साथियों के साथ बिकरू कांड़ को लेकर खजांची जय कांत बाजपेयी कानपुर देहात की माती की जेल में बंद है. तो वही अब पुलिस ने फर्जी शपथ पत्र देकर असलहा लाइसेंस बनवाने का एक मुकदमा बजरिया थाने में दर्ज किया है. 

यह मुकदमा एसआईटी की जांच रिपोर्ट के बाद खजांची जय कांत बाजपेई के ऊपर दर्ज किया गया है. मिली जानकारी के अनुसार कानपुर में हुए बिकरू कांड़ की जांच कर रही एसआईटी द्वारा दी गयी रिपोर्ट में फर्जी शपथ पत्र देकर असलहा लाइसेंस बनवाने वाले 9 लोगों को आरोपी माना था. जो कि विकास दुबे के गिरोह में शामिल रहे थे. और वहीं अब एसआईटी ने बजरिया से असलहा लाइसेंस प्राप्त करने वाला उसका खजांची जयकांत बाजपेयी को भी इसी में शामिल किया था और उसके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराने की सिफारिश की गयी थी.

बिकरू कांड: गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी रिचा और भाई सहित नौ लोगों पर FIR दर्ज

 जिसकेे चलते बजरिया इंस्पेक्टर राममूर्ति यादव ने वादी बनकर जयकांत के खिलाफ धोखाधड़़ी‚फर्जी सरकारी दस्तावेज बनाना‚ उनका प्रयोग करने की धाराओं में एफआईआर दर्ज करा दी है . वहीं जयकांत बाजपेयी के खिलाफ दर्ज एफआईआर में विवेचक दरोगा अविनाश वर्मा को बनाया गया है.थाना प्रभारी ने बताया कि जय कांत बजपेई के ऊपर मुकदमा संख्या 383/2020 धारा- 419 / 420 / 467/ 468 / 471 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है.जय कांत बाजपेई ने जान बूझकर शस्त्र लाइसेंस न. 294 प्राप्त करते समय असत्य शपथ पत्र सहित व सही जानकारी छुपाकर शस्त्र लाइसेंस प्राप्त किया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें