विकास दुबे के खास गुड्डन व मंडौली शराब कांड के आरोपियों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त

Smart News Team, Last updated: Fri, 23rd Oct 2020, 2:17 PM IST
  • बिकरु कांड में विकास दुबे के खास और कानपुर देहात के जिला पंचायत सदस्य गुड्डन त्रिवेदी के साथ ही रूरा के मंडौली शराब कांड के आरोपितों समेत 4 लोगों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिए गए हैं.
विकास दुबे

कानपुर: कानपुर देहात के बिकरू कांड में आरोपियों के खिलाफ सरकार और प्रशासन की कड़ी कार्रवाई जारी है. इसी क्रम में बिकरु कांड के साजिशकर्ता विकास दुबे के खास और कानपुर देहात के जिला पंचायत सदस्य गुड्डन त्रिवेदी के साथ ही रूरा के मंडौली शराब कांड के आरोपितों समेत 4 लोगों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिए गए हैं.

गौरतलब है कि बिकरू कांड में मुख्य आरोपी विकास दुबे के खास कुढ़वा के जिला पंचायत सदस्य अरविंद त्रिवेदी उर्फ गुड्डन का नाम सामने आया था. विकास के गुड्डन के यहां छिपे होने के शक में STF ने घर पर छापा भी मारा था. बाद में गुड्डन को मुंबई के ठाणे से गिरफ्तार किया गया था. गुड्डन के पास रायफल व दोनाली बंदूक के लाइसेंस थे, जिनको पहले डीएम ने निलंबित किया था. मामले में सुनवाई के बाद डीएम ने उनके दोनों लाइसेंस निरस्त कर दिए.

कानपुर सर्राफा बाजार में सोना बढ़ा चांदी हुई धीमी, क्या है आज का मंडी भाव

इसी तरह प्रशासन ने दो साल पहले रूरा थाना क्षेत्र के मड़ौली गांव में जहरीली शराब कांड में आरोपित हुए पूर्व राज्यमंत्री रामस्वरूप सिंह गौर के नाती विनय सिंह की पिस्टल, उसके भाई नीरज सिंह गौर की रायफल व पिस्टल के लाइसेंस भी निरस्त कर दिए है. बता दें कि मंगलपुर थाना क्षेत्र के परहुली गांव निवासी दीपक चतुर्वेदी भी शराब कांड में आरोपित है, डीएम डॉ दिनेश चंद्र ने उसका शस्त्र लाइसेंस भी निरस्त कर दिया गया है.

UP सरकार की होटलों को बड़ी राहत, 12 किश्तों में चुका सकेंगे बिजली का बिल

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें