पुलिस से हिस्ट्रीशीटर को बचाने वाले BJP नेता पर भाजपा का एक्शन, पद से हटाया

Smart News Team, Last updated: Thu, 3rd Jun 2021, 10:27 AM IST
  • कानपुर में बर्थडे पार्टी में शामिल हुए हिस्ट्रीशीटर को जब पुलिस पकड़ने आई तो उसे बचाने के लिए भाजपा नेता नारायण सिंह भदौरिया मैदान में कूद पड़े थे. बीजेपी ने तत्काल मामले की गंभीरता को समझते हुए उन्हें पद से हटा दिया गया है.
कानपुर में पुलिस से जबरन हिस्ट्रीशीटर को बीजेपी नेता औऱ उनके समर्थक ने छुड़ाया.

कानपुर. कानपुर में बुधवार को भाजपा नेता के जन्मदिन पर हुए बवाल के बाद बीजेपी ने उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है. भारतीय जनता पार्टी की कानपुर जिलाध्यक्ष ने गुरुवार को नोटिस जारी करते हुए नेता नारायण सिंह को दायित्वों से मुक्त कर दिया है. कानपुर भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. वीना ऑर्या पटेल ने साथ ही कहा कि जिले से तीन सदस्यों की टीम का गठन किया जा रहा है जो 24 घंटे में अपनी जांच रिपोर्ट को प्रस्तुत करेगी. रिपोर्ट को क्षेत्र और प्रदेश संगठन को भेजा जाएगा.

दरअसल, भाजपा नेता नारायण सिंह भदौरिया की बुधवार को आयोजित बर्थडे पार्टी में हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह शामिल हुआ था. पुलिस को उसकी तलाश काफी समय से थी. जब पुलिस को जानकारी मिली की वह नेता की पार्टी में शामिल होने आ रहा है तो वह उसे अरेस्ट करने पहुंच गई. पुलिस जब उसे अरेस्ट कर ले जा रही थी तब नेता और उनके पचासों समर्थक हिस्ट्रीशीटर को बचाने के लिए मैदान में कूद पड़े. पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करके लोग हिस्ट्रीशीटर को जबरन छुड़ा कर ले गए.

कानपुर के बर्रा थाने का हिस्ट्रीशीटर और हत्या के प्रयास समेत कई मामलों में फरार मनोज सिंह पार्टी में शामिल हुआ था. जिसे छुड़ाने को लेकर किदवईनगर में जमकर हंगामा हो गया. पुलिस जब मनोज सिंह को अरेस्ट कर ले जा रही थी तो उसने शोर मचाना शुरू कर दिया. जिसके बाद भीड़ और पुलिस में जमकर धक्का-मुक्की हो गई. पुलिस की पकड़ से हिस्ट्रीशीटर को छुड़ा ले गए. वहीं जब तक पुलिस टीम पहुंचती तबतक आरोपी गायब हो चुका था.   

UP पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर को पकड़ा तो धक्का देकर जबरन छुड़ा ले गए BJP नेता-समर्थक

फरार हिस्ट्रीशीटर मनोज सिंह ने 21 मार्च 2021 को एक इंटर छात्र को गोली मार दी थी. जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया था. मनोज सिंह के खिलाफ अन्य कई मामले भी दर्ज हैं. पुलिस का कहना है कि गिरफ्त से आरोपी को भगाने वालों के खिलाफ भी मामला दर्ज कर दिया गया है. जल्द ही इसपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. 

कानपुर के इस अस्पताल में मरीज का बेड से बांधकर इलाज, वीडियो वायरल होने पर हड़कंप

 

 

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें