कानपुर: भाई और पिता की मौत से परेशान बिजनेमैन ने फांसी लगाकर दी जान

Smart News Team, Last updated: 03/11/2020 05:28 PM IST
  • व्यापारी अनिल शर्मा काफी दिनों से डिप्रेशन के शिकार थे. कयोकि कोरोना काल के दौरान उनके पिता और छोटे भाई की असमय मौत हो गयी थी. पुलिस पूरे मामले की अन्य एगलों से भी जांच कर रही हैं.
बिजनेसमेन अनिल शर्मा : फाइल फोटो

कानपुर के रतनलाल नगर में छह माह के भीतर पिता और भाई की मौत से डिप्रेशन में आए व्यापारी ने फांसी लगा जान दे दी. घटना मंगलवार सुबह की है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, व्यापारी ने अपने कमरे में दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या ली. इस घटना के बाद एक बार फिर से परिवार में कोहराम मंच गया है. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारा. पुलिस के अनुसार, प्राथमिक जांच में फांसी के कारण डिप्रेशन बताया जा रहा है. जहां पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

 

विंदनगर के रतनलाल नगर निवासी अनिल शर्मा पेशे से व्यापारी थे. उनके परिवार में पत्नी पूर्णिमा शर्मा, बेटी आर्या और मां कांति शर्मा हैं अनिल शर्मा कानपुर के दादानगर में होजरी की फैक्ट्री चलाते थे. अनिल के दोस्त सौरभ के मुताबिक, अनिल का छोटा भाई अंकित चार्टड अकाउंटेट था जिसकी मई महीने में हार्ट अटैक से मौत हो गई थी. उसकी मौत से सदमे से अनिल के पिता भी बीमार हो गए और अगस्त माह में उनका भी बीमारी के चलते निधन हो गया था. तब से अनिल हमेशा गुमसुम रहने लगा. शायद पिता और छोटे भाई की मौत का सदमा अनिल को भी हो गया था.

 

कानपुर में राजू श्रीवास्तव के PRO पर डॉक्टर ने गाली-गलौज करने का FIR दर्ज कराया

 

 

जानकारी के मुताबिक, फैक्ट्री में भी काम का प्रेशर होने के कारण अनिल डिप्रेशन में आ गया. परिवार के लोगों ने लगातार उनको समझा रहे थे. परिजनों के अनुसार, अनिल ने मंगलवार सुबह करीब पांच बजे अपने कमरे में दुपट्टे से फांसी लगा ली. सुबह जब उनकी पत्नी ने शव फंदे से लटका देखा, तो परिवार में चीख पुकार मच गई. तभी उनके घर में काम करने वाला एक लड़का पड़ोसियों को बुलाने आया. पड़ोसी अनिल के घर पहुंचे और इस घटना की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम पर दी. मौके पर पहुंची रतनलाल नगर चौकी पुलिस ने शव को फंदे से उतारा. बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया गया.

घाटमपुर और बांगरमऊ विधानसभा उपचुनाव के मतदान शुरू

कानपुर सर्राफा बाजार में सोना चांदी के दामों में आया उछाल, आज का मंडी भाव

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें